Farmers Protest का चेहरा बनी 80 साल से अधिक की यह दो दादिया खूब चर्चा में आ रही है जाने क्यों ?

पंजाब और हरियाणा के किसानों ने दिल्ली की सीमाओं पर डेरा जमाकर पूरे देश को बड़ा संदेश दिया है. कृषि कानून के खिलाफ सड़रों पर उतरे किसानों में हर उम्र के लोग हैं,

पंजाब और हरियाणा के किसानों ने दिल्ली की सीमाओं पर डेरा जमाकर पूरे देश को बड़ा संदेश दिया है. कृषि कानून के खिलाफ सड़रों पर उतरे किसानों में हर उम्र के लोग हैं, फिर चाहे वो पुरुष हों या फिर महिलाएं. पंजाब से दो बुजुर्ग महिलाएं जो 80 से अधिक उम्र की हैं, उन्होंने भी प्रदर्शन में शामिल होकर चर्चा बटोरी है. बठिंडा की महिंदर कौर और बरनाला की जनगीर कौर किसान आंदोलन का चेहरा बन चुकी हैं और हर किसी को प्रेरणा दे रही हैं. कृषि कानून के खिलाफ सितंबर महीने में पंजाब में आंदोलन की शुरुआत हुई थी. तभी से दोनों महिलाएं इन आंदोलनों में भाग ले रही हैं. महिंदर कौर के पास कुल 12 एकड़ जमीन है. महिदंर कौर ना सिर्फ खुद प्रदर्शन में शामिल हो रही हैं, बल्कि आंदोलन के लिए आर्थिक मदद भी पहुंचा रही हैं. बीते दिनों फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने ट्विटर पर उनकी तस्वीर साझा करते हुए लिखा था कि यही दादी शाहीन बाग गई थीं और अब पैसों के लिए यहां आ गई हैं. कंगना ने शाहीन बाग की दादी बिल्किस से महिंदर कौर की तुलना कर दी थी. पंजाब की महिंदर कौर अभी भी घरों में सब्जियां उगाती हैं, उनके मुताबिक जब वो लोगों के साथ अपने गांव के पेट्रोल पंप तक गई थी तभी किसी ने तस्वीर खींच ली थी. जो बाद में चर्चा का विषय बनी. वायरल तस्वीर में महिंदर कौर भारतीय किसान यूनियन एकता उग्राहां का झंडा हाथ में थामे हुए है. महिंदर के अलावा अलावा जगनीर कौर भी लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं, बरनाला की दादी ने मांग की है कि सरकार को किसानों की मांग माननी चाहिए और कानून वापस ले लेना चाहिए. आपको बता दें कि पिछले एक हफ्ते से किसान दिल्ली की सड़कों पर डटे हैं. लेकिन दो महीने से पंजाब के अलग-अलग इलाकों में प्रदर्शन जारी है. किसानों ने पंजाब में लंबे वक्त तक ट्रेनों को रोके रखा, मंडी में काम ठप रखा. अब दिल्ली एनसीआर इलाकों में किसानों के प्रदर्शन के कारण जाम की स्थिति है और लोगों को परेशानी हो रही है.