Kisan Andolan : सरकार से वार्ता करने सिंधु बॉर्डर से निकले किसान नेता

कृषि कानूनों पर सरकार से बातचीत करने के लिए किसान संगठन आज दोपही को 2 बजे विज्ञान भवन में बैठक करेंगे। किसान नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल बातचीत के लिए सिंघु बॉर्डर से बस में रखना हो चुका है। केंद्र सरकार आज प्रदर्शनकारी किसानों के साथ छठे दौर की वार्ता करेगी।

Kisan Andolan : सरकार से वार्ता करने सिंधु बॉर्डर से निकले किसान नेता

कृषि कानूनों पर सरकार से बातचीत करने के लिए किसान संगठन आज दोपही को 2 बजे विज्ञान भवन में बैठक करेंगे। किसान नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल बातचीत के लिए सिंघु बॉर्डर से बस में रखना हो चुका है। केंद्र सरकार आज प्रदर्शनकारी किसानों के साथ छठे दौर की वार्ता करेगी।

किसान संगठनों ने कहा है कि विचार-विमर्श केवल तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कानूनी गारंटी प्रदान करने के तौर-तरीकों पर केंद्रित होगा।

आज के छठे दौर की बातचीत जो तीन सप्ताह के अंतराल के बाद हो रही है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गोयल ने कल गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की और बैठक के लिए सरकार के एजेंडे पर चर्चा और अंतिम रूप देने की रिपोर्ट की।

केंद्र ने लंबे आंदोलन को समाप्त करने के लिए "खुले दिमाग" के साथ "तार्किक समाधान" खोजने के लिए सभी प्रासंगिक मुद्दों पर वार्ता के लिए फिर से चर्चा में आने के लिए 40 विपक्षी किसान यूनियनों को आमंत्रित करने के लिए सोमवार को भेजा था।

सरकार को उम्मीद है कि आज खत्म हो जाएगा आंदोलन

वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने कहा, "हमें उम्मीद है कि वार्ता निर्णायक होगी। एमएसपी सहित सभी मुद्दों पर वार्ता खुले दिल से होगी। मुझे उम्मीद है कि किसानों का आंदोलन आज समाप्त होगा।"

किसान नेता वार्ता को लेकर आशान्वित नहीं

किसान मजदूर संघर्ष समिति के संयुक्त सचिव सुखविंदर सिंह साबरा ने कहा, "किसानों और सरकार के बीच पांच दौर की बातचीत हुई है। हमें नहीं लगता कि हम आज भी किसी समाधान तक पहुंचेंगे। तीनों कृषि कानूनों को निरस्त किया जाना चाहिए।"