शहर में कोरोना ने पकड़ी रफ़्तार लोगो की लापरवाही देख डीएम हुवे सख़्त लगाया धारा 144

शहर बनारस में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आकड़ा बढ़ता जा रहा है | जिसके वजह से जिलाधिकारी ने शहर में धारा 144 लागू कर दिया है और आज से कड़ाई भी शुरू कर दी है और आज सुबह 11 बजे तक फिर से डराने वाले आँकड़े सामने आ रहे है 143 नए कोरोना संक्रमित मरीजों के सामने आने की वजह से जिले में कुल 765 सक्रिय मामले हो गए हैं |

शहर में कोरोना ने पकड़ी रफ़्तार लोगो की लापरवाही देख डीएम हुवे सख़्त लगाया धारा 144

शहर बनारस में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आकड़ा बढ़ता जा रहा है | जिसके वजह से जिलाधिकारी ने शहर में धारा 144 लागू कर दिया है और आज से कड़ाई भी शुरू कर दी है और आज सुबह 11 बजे तक फिर से डराने वाले आँकड़े सामने आ रहे है 143 नए कोरोना संक्रमित मरीजों के सामने आने की वजह से जिले में कुल 765 सक्रिय मामले हो गए हैं।

इस प्रकार साल भर से अब तक कुल 23015 मिल चुके हैं, जबकि 21869 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं। 381 लोगों की अब तक वायरस संक्रमण की वजह से जान जा चुकी है। कोरोना से एक मौत को देखते हुए जिले में गुरुवार रात से ही धारा 144 लगा दी गई है।  इसी के साथ जिलाधिकारी का सख्त आदेश भी आ चुका है जिसमे उन्होंने बताया है की प्रत्येक नागरिक को मास्क लगाने के साथ ही शारीरिक दूरी नियम का हर जगह पालन करना होगा। साथ ही चेतावनी देते हुवे कहा है की नियमो का पालन न करने वालों पर महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।  होटल, मॉल, शॉपिंग मॉल, रेस्तरां, बैंक्वेट हाल, बारात घर, मैरेज हॉल आदि स्थानों पर मास्क लगाना व शारीरिक दूरी के नियम का पालन करना अनिवार्य होगा। यदि दुकानदार या ग्राहक इसका उल्लंघन करते पाए गए तो दुकानें सील की जाएगी।अब कोविड-19 संबंधित दिशा-निर्देशों का पालन हर हाल में अनिवार्य होगा।

ल्लंघन करने पर महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी। बतादे गुरुवार को एक ही दिन में 196 कोरोना पाजिटिव पाए जाने के बाद व कोरोना से एक मौत को देखते हुए शहर बनारस में गुरुवार रात से ही धारा 144 लगा दी गई है। दुकान या माल में बिना मास्क के बिक्री या खरीदारी पर संबंधित प्रतिष्ठान सील कर दिया जाएगा साथ ही आटो या ई-रिक्शा पर तय किए गए सवारी से ज्यादा सवारी बैठाने पर वाहन सीज कर दिया जाएगा।
साथ ही रात नौ बजे के बाद दुकान या व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले पाए गए तो उनपर महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी ।जिलाधिकारी की ओर से जारी निर्देश के अनुसार मंदिरों व घाटों पर पूजा-आरती के समय कोविड-19 के नियमों का पालन कराने की जिम्मेदारी मंदिर प्रबंधन व आयोजक की होगी।