डोनाल्ड ट्रम्प को महाभियोग ट्रायल में अमेरिकी सीनेट द्वारा सभी आरोपों से बरी कर दिया गया |

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को बुधवार को यहां महाभियोग ट्रायल में अमेरिकी सीनेट द्वारा सभी आरोपों से बरी कर दिया गया। 48 के मुकाबले 52 वोटों से, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को सत्ता के दुरुपयोग के आरोप में दोषी नहीं पाया गया। इसके साथ ही उन्हें महाभियोग के एक अन्य आरोप से भी बरी कर दिया गया।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को बुधवार को यहां महाभियोग ट्रायल में अमेरिकी सीनेट द्वारा सभी आरोपों से बरी कर दिया गया। 48 के मुकाबले 52 वोटों से, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को सत्ता के दुरुपयोग के आरोप में दोषी नहीं पाया गया। इसके साथ ही उन्हें महाभियोग के एक अन्य आरोप से भी बरी कर दिया गया। यहां उन्होंने 47 के मुकाबले 53 वोटों के साथ जीत हासिल की वहीँ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को संसद के दोनों सदनों के साझा सत्र को संबोधित किया। यह ट्रम्प का तीसरा स्टेट ऑफ द यूनियन संबोधन रहा। इस बार स्टेट ऑफ द यूनियन की थीम ‘इट्स द ग्रेट अमेरिकन कमबैक!’ (अमेरिका की महान वापसी) रही। इस दौरान राष्ट्रपति और संसद के निचले सदन (हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स) की स्पीकर नैंसी पेलोसी के बीच तल्खी दिखी। ट्रम्प के संबोधन के ठीक पहले पोडियम की तरफ जाते वक्त पेलोसी ने अपनी चेयर से खड़े होकर अभिवादन के तौर पर उनसे हाथ मिलाने के लिए बढ़ाया, लेकिन राष्ट्रपति इसे नजरअंदाज कर आगे बढ़ गए। ट्रम्प के भाषण के दौरान उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कई बार खड़े होकर ताली बजाई, जबकि स्पीकर नैंसी पेलोसी अपनी जगह पर बैठी रहीं। इसके बाद जैसे ही ट्रम्प ने भाषण खत्म किया, वैसे ही पेलोसी ने संसद में सबके सामने उनके संबोधन की कॉपी फाड़ दी।