अमेरिका हिंसा -डोनाल्ड ट्रम्प को फेसबुक और इंस्टाग्राम ने किया अनिश्चित काल तक बैन

अमेरिका में कल हुई हिंसा ने पुरे दुनिया को हिला दिया | अमेरिका में हिंसा के बाद जो बाइडेन की जीत पर मुहर लग गई है | डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन को अब 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ दिलाई जाएगी| लेकिन इन सबके बीच ट्रंप से जुड़े फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट्स पर लगे बैन को अनिश्चित काल तक के लिए आगे बढ़ा दिया गया है| फेसबुक फाउंडर मार्क जकरबर्ग ने खुद इस निर्णय की वजह बताई है|

अमेरिका हिंसा -डोनाल्ड ट्रम्प को फेसबुक और इंस्टाग्राम ने किया अनिश्चित काल तक बैन

अमेरिका में कल हुई हिंसा ने पुरे दुनिया को हिला दिया | अमेरिका में हिंसा के बाद जो बाइडेन की जीत पर मुहर लग गई है | डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन को अब 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ दिलाई जाएगी| लेकिन इन सबके बीच ट्रंप से जुड़े फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट्स पर लगे बैन को अनिश्चित काल तक के लिए आगे बढ़ा दिया गया है| फेसबुक फाउंडर मार्क जकरबर्ग ने खुद इस निर्णय की वजह बताई है| 

जकरबर्ग का मानना है कि उनको सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने देना काफी जोखिम भरा हो सकता है इसलिए ही उन्होंने ट्रंप के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट पर ब्लॉक को अनिश्चित काल के लिए बढ़ा दिया है| जकरबर्ग के मुताबिक यह बैन कम से कम अगले दो सप्ताह तक लागू रह सकता है जब तक कि सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तानांतरण पूरा नहीं हो जाता| अपने इस फैसले को लेकर जकरबर्ग ने एक बयान जारी किया है|  जिसमें उन्होंने कहा, "पिछले 24 घंटों की चौंकाने वाली घटनाएं स्पष्ट रूप से प्रदर्शित करती हैं कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने निर्वाचित उत्तराधिकारी जो बिडेन को सत्ता के शांतिपूर्ण और वैध हस्तानांतरण को कमजोर करने के लिए ऑफिस में अपने बचे वक्त का इस्तेमाल करने का इरादा दिखाया है| "
जकरबर्ग ने अपने बयान में आगे कहा, "कैपिटल भवन में अपने समर्थकों के कार्यों की निंदा करने के बजाय अपने मंच का इस्तेमाल करने के उनके फैसले ने अमेरिका और दुनिया भर में लोगों को परेशान किया है|  हमने कल इन बयानों को हटा दिया क्योंकि हमने निर्णय लिया कि उनका प्रभाव (और उनके इरादे की संभावना है) आगे की हिंसा को भड़काने के लिए होगा| "मार्क ने चिंता जताते हुए कहा, "कांग्रेस द्वारा चुनाव परिणामों पर मुहर के बाद, पूरे देश के लिए प्राथमिकता अब यह सुनिश्चित करना है कि बाकी के बचे 13 दिन और उद्घाटन के बाद के दिन शांतिपूर्वक और स्थापित लोकतांत्रिक मानदंडों के अनुसार हों| "
बैन की वजह बताते हुए मार्क जकरबर्ग ने कहा, "पिछले कई वर्षों में हमने राष्ट्रपति ट्रंप को हमारे नियमों के अनुरूप हमारे प्लेटफॉर्म का उपयोग करने की अनुमति दी है, जब वे हमारी नीतियों का उल्लंघन करते हैं तो कंटेट को हटाते हैं या उनके पोस्टों को लेबल करते हैं| हमने ऐसा इसलिए किया क्योंकि हम मानते हैं कि जनता को राजनीतिक भाषण, यहां तक ​​कि विवादास्पद स्पीच तक व्यापक संभव पहुंच का अधिकार है| लेकिन वर्तमान संदर्भ अब मौलिक रूप से अलग है, जिसमें लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई सरकार के खिलाफ हिंसक विद्रोह को उकसाने के लिए हमारे मंच का उपयोग शामिल है| "

अंत में बैन को अनिश्चित काल तक के लिए बढ़ाने का दावा करते हुए उन्होंने कहा, "हमारा मानना ​​है कि इस अवधि के दौरान राष्ट्रपति को हमारी सेवा का उपयोग जारी रखने की अनुमति देने के जोखिम बहुत बड़े हैं|  इसलिए, हमने उनके फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट पर अनिश्चित काल के लिए ब्लॉक को बढ़ा दिया है और कम से कम अगले दो सप्ताह तक जब तक कि सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तानांतरण पूरा नहीं हो जाता| "