दिल्ली में अपने जीजा की हत्या कर लाश को कार में छोड़कर फरार युवक | Crime News

लॉकडाउन में सख्त प्रशासन के बीच जहाँ एक ओर आम जनता को अपनी जरूरतों के लिए भी बाहर जाना महंगा पड़ रहा है।वहीं दूसरी ओर कुछ शातिर ऐसे भी है जो इस लॉकडाउन के मद्देनजर कड़ी प्रशासन के बीच भयानक वारदात को अंजाम देकर निकल गए।कुछ ऐसा ही मामला सामने आया जब दिल्ली में युवक ने अपने ही जीजा की हत्या कर शव को कार में छुपाकर घूमता रहा।और फिर शव को कार समेत रोहिणी सेक्टर-24 की पार्किंग में ठिकाने लगा कर फरार हो गया।

11 अप्रैल की सुबह दिल्ली पुलिस कंट्रोल रूम को पार्किंग में कार के अंदर शव होने की सूचना मिली।सूचना मिलने पर बेगमपुर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कस्टडी में लिया और छानबीन शुरू कर दी।जिसके बात आज लावारिस लाश की इस गुत्थी को दिल्ली पुलिस ने सुलझा कर पूरा मामला सामने रख दिया है।रोहिणी जिले के एडिशनल पुलिस कमिश्नर एस.डी मिश्रा ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि रोहिणी सेक्टर-24 की पार्किंग में मिले शव की पहचान हो चुकी है।मृतक की पहचान 50 वर्षीय ओमप्रकाश के रूप में हुई है जो प्रेम नगर किराड़ी का रहने वाला है। वहीं हत्यारोपियों के नाम संदीप उर्फ देवा है जो रिश्ते में मृतक ओम प्रकाश का सगा साला है और उसके साथ उसका दोस्त सैफ अली खान नामक व्यक्ति भी शामिल है। मामले की छानबीन से यह बात सामने आई कि मृतक ओम प्रकाश,गंभीर बीमारी से ग्रसित पत्नी के मृत्यु के बाद दूसरी शादी के लिए परेशान था। जिसका फायदा उठाते हुए ओमप्रकाश की पत्नी का सगा भाई, देवा साजिश के तहत उसे दूसरी शादी के लिए यह कह कर बुलाता है कि शादी के लिए महिला का प्रबंध हो गया है लेकिन इसके लिए दो लाख रुपए खर्च करने होंगे।ओमप्रकाश शादी करने की ललक में अपने साले देवा की बात मानकर दो लाख रुपए देने के लिए तैयार हो जाता है और उसके बाद रुपए लेकर वह बताए हुए स्थान पर पहुंच जाता है।

वहीं मौका देखकर देवा और उसके साथी ने उस कमरे में ही ओमप्रकाश की हत्या कर ओमप्रकाश के पास मौजूद दो लाख लूट लिए।और फिर शव को ओमप्रकाश की ही कार में ले जाकर रोहिणी सेक्टर-24 की पार्किंग में छोड़ कर दोनों हत्यारे फरार हो गए।

मौके पर पहुंचे पुलिस को वारदात स्थल से मृतक ओमप्रकाश का मोबाइल फोन गायब मिला जिसके बाद मोबाइल रिकॉर्ड खंगालने पर शक की सुई मृतक के साले देवा और सैफ अली खान पर जा पहुंची और आखिरकार पूछताछ के दौरान दोनों ने अपना गुनाह कुबूल कर ही लिया।दोनों हत्यारोपितों के पास से 2 लाख रुपये और मोबाइल फोन भी बरामद हुए।