सीआरपीएफ के जवानों ने मनाया शौर्य दिवस, शहीदों को क्वार्टर गार्ड पर दी गई श्रंद्धाजलि

सीआरपीएफ की एक छोटी टुकड़ी ने पाकिस्तान के खिलाफ रण आफ कच्छ में 34 पाकिस्तानी सैनिकों का सफाया किया था यह पहली बार था जब पूर्ण रूप से पैदल सेना की टुकड़ी ने पाकिस्तान की सेना के विरुद्ध सफल लड़ाई लड़ी, इस लड़ाई के दौरान सीआरपीएफ के 6 जवान शहीद हुए थे, इन बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए 9 अप्रैल को शौर्य दिवस के रूप में हर साल मनाया जाता है।

सीआरपीएफ के जवानों ने मनाया शौर्य दिवस, शहीदों को क्वार्टर गार्ड पर  दी गई श्रंद्धाजलि

सीआरपीएफ की एक छोटी टुकड़ी ने पाकिस्तान के खिलाफ  रण आफ कच्छ में 34 पाकिस्तानी सैनिकों का सफाया किया था यह पहली बार था जब पूर्ण रूप से पैदल सेना की टुकड़ी ने पाकिस्तान की सेना के विरुद्ध सफल लड़ाई लड़ी, इस लड़ाई के दौरान सीआरपीएफ के 6 जवान शहीद हुए थे, इन बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए 9 अप्रैल को शौर्य दिवस के रूप में हर साल मनाया जाता है।

 

 

आज इस उपलक्ष्य पर 95 बटालियन के0रि0पु0बल  के कमांडेंट एवं अन्य अधिकारी व जवानों द्वारा वाहिनी के प्रांगण में शहीदों को क्वार्टर गार्ड पर श्रंद्धाजलि दी गई एवं सैनिक सम्मेलन का भी आयोजन किया गया तथा कमांडेंट द्वारा सभी अधिकारियों व जवानों को शहीद जवानों के बारे में बताया गया और याद किया गया।

 

 


इस अवसर सुभाष इंटर कॉलेज चौबेपुर वाराणसी में शहीद जवान देव ब्रत सिंह को कमांडेंट 95 बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा माल्यार्पण एवं श्रद्धांजलि दी गई वहां उपस्थित प्रिंसिपल ने बताया कि स्कूल के प्रांगण में शहीद जवान देवव्रत सिंह की प्रतिमा स्थापित कराई जाए जिससे कि यहां पढ़ने वाले छात्र एवं छात्राओं के प्रेरणा स्रोत बन सके। 
इस कार्यक्रम में कमांडेंट  एवं अधिकारी व जवान 95 बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल तथा विद्यालय के प्रिंसिपल श्री उदय नाथ तिवारी अध्यापक मनबोध यादव आदि लोग उपस्थित रहे।