ज्ञानवापी मामले में कोर्ट के फैसले ने दिया मुस्लिम पक्ष को बड़ा झटका,सर्वे रहेगा जारी ,हो सकते है कई चौकाने वाले खुलासे

ज्ञानवापी मस्जिद मामले में आज कोर्ट ने बड़ा फैसला ले लिया है और और कोर्ट के इस फैसले से मुस्लिम पक्ष को बड़ा झटका लगा है उनके अर्जी को खारिज करते हुवे कोर्ट ने 17 मई से ज्ञानवापी के सर्वे का आदेश दे दिया है यही नहीं कोर्ट ने ये भी फैसला लिया है की जो पहले कोर्ट कमिश्नर थे उन्हें नहीं हटाया जाएगा कोर्ट ने दो और सहायक कमिश्नर नियुक्त किए हैं।

ज्ञानवापी मामले में कोर्ट के फैसले ने दिया मुस्लिम पक्ष को बड़ा झटका,सर्वे रहेगा जारी ,हो सकते है कई चौकाने वाले खुलासे

ज्ञानवापी मस्जिद मामले में आज कोर्ट ने बड़ा फैसला ले लिया है और और कोर्ट के इस फैसले से मुस्लिम पक्ष को बड़ा झटका लगा है उनके अर्जी को खारिज करते हुवे कोर्ट ने 17 मई से ज्ञानवापी के सर्वे का आदेश दे दिया है यही नहीं कोर्ट ने ये भी फैसला लिया है की जो पहले कोर्ट कमिश्नर थे उन्हें नहीं हटाया जाएगा  कोर्ट ने दो और सहायक कमिश्नर नियुक्त किए हैं। जिनके नाम विशाल सिंह व अजय है जो सहायक कमिश्नर नियुक्त किया है। साथ ही इस दौरान कोर्ट ने आदेश दिया है की अगर सर्वे के दौरान किसी ने भी सर्वे में बाधा डालने की कोशिश की तो उसके ऊपर मुकदमा दर्ज होगा साथ ही ये सर्वे वाराणसी जिलाधिकारी व वाराणसी कमिश्नर के देख रेख में होगी  वाराणसी की कोर्ट ने आदेश दिया है की इस दौरान पूरे इलाके की वीडियोग्राफी होगी। और इस सर्वे के दौरान दोनों पक्ष के लोग मौजूद रहेंगे ताकि सर्वे निष्पक्ष हो पाए| 

 

 

 

कोर्ट का आदेश है की 17 मई को 9 से 12 बजे तक सर्वे किया जाएगा उसके बाद रिपोर्ट कोर्ट में पेश की जाएगी वही आप को बता दे ये मामला तब तूल पकड़ा जब यहां श्रृंगार गौरी के रोजाना दर्शन पूजन की मांग को लेकर पांच महिलाओं की ओर से वाद दायर किया गया और इस वाद पर बीते आठ अप्रैल को अदालत ने अजय कुमार मिश्र को एडवोकेट कमिश्नर नियुक्त करते हुए ज्ञानवापी परिसर का सर्वेक्षण कर दस मई तक अदालत में रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया था। 

 

 

जिसके बाद इस मामले में छह मई को कमीशन की कार्यवाही शुरू तो हुई लेकिन किन्ही कारणों से पूरी नहीं हो सकी। सात मई को अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने अदालत में प्रार्थना पत्र देकर एडवोकेट कमिश्नर बदलने की मांग कर दी। इस प्रार्थना पत्र पर तीन दिनों से अदालत में सुनवाई चली।और आज आखिरकार फैसला आ गया और अब सर्वे होगा अब इस फैसले के बाद सभी को आने वाले 17 मई का बेसब्री से इन्तजार है अनुमान लगाया जा रहा है की कुछ चौकाने वाले खुलासे हो सकते है |