Corona के मद्देनजर बढ़ सकती है लॉक डाउन की अवधि | LOCKDOWN | CORONAVIRUS

coronavirus in uttar pradesh, coronavirus uttar pradesh update, uttar pradesh coronavirus, uttar pradesh coronavirus cases, uttar pradesh coronavirus update, uttar pradesh coronavirus news, coronavirus uttar pradesh, uttar pradesh corona cases, coronavirus update in uttar pradesh, uttar pradesh coronavirus update, uttar pradesh coronavirus cases, coronavirus uttar pradesh, coronavirus uttar pradesh update, coronavirus in uttar pradesh, coronavirus uttar pradesh india, coronavirus uttar pradesh update, coronavirus in uttar pradesh,

 

कोरोना के बढ़ते जाल को रोकने के लिए भारत सरकार ने पूरे देश में 21 दिन के लॉक डाउन का फैसला लिया था जो 14 अप्रैल को खत्म होने वाली है। लेकिन कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकारों और विशेषज्ञों ने केंद्र सरकार से लॉक डाउन बढ़ाने का अनुरोध किया है जिस पर केंद्र सरकार विचार भी कर रही है। देश में लॉक डाउन की अवधि बढ़ाने के पर विचार हो रहे हैं। जिसकी जानकारी सोमवार के हुए कैबिनेट की बैठक के बाद केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर देते हुए कहा कि देश हित में जो भी फैसला होगा वह सही समय पर लिया जाएगा।वहीं देश के कुछ राज्य सरकारों ने लोक डाउन पर अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी है । जहां महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को बताया कि लोगों के द्वारा निर्देशों के पालन पर निर्भर करेगा कि लॉक डाउन हटेगा या नहीं।उन्होंने साफ तौर पर यह कह दिया है कि 14 तारीख के बाद लॉक डाउन का हटना या ना हटना लोगों पर निर्भर करता है जिस तरह से वह सरकारी निर्देशों का अनुपालन करेंगे उसी के आधार पर आगे के फैसले लिए जाएंगे। हालांकि उन्होंने यह साफ तौर पर कहा कि महाराष्ट्र में राजनीतिक धार्मिक और खेलकूद से जुड़े कार्यक्रमों को अगले नोटिस तक अनुमति नई दी जाएगी। वहीं उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी लॉक डाउन को चरणबद्ध तरीके से खोले जाने की योजना बनाने की बात कही और कहा कि अगर 15 अप्रैल से लॉक डाउन खुलता है तो हालात बहुत चुनौतीपूर्ण हो जाएंगे । इसके साथ ही तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को लॉक डाउन बढ़ाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है इस पर उन्होंने कहा कि अगर लॉक डाउन हटाया जाता है तो राज्य में मरीजों की संख्या काफी तेज़ी से बढ़ सकती है। उन्होंने राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन पर अपना समर्थन जाहिर करते हुए कहा कि हम आर्थिक समस्याओं से उबर सकते हैं लेकिन जीवन नहीं लौटा सकते।अगर लॉक डाउन हटाया जाता है तो देश की खराब स्वास्थ्य सुविधाओं के कारण वायरस से संक्रमण को रोकना मुश्किल होगा। इस पर छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने भी पीएम को पत्र लिखकर देश के अंतरराज्यीय आवागमन प्रारंभ करने से पूर्व कोरोनावायरस के प्रसार की स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए ठोस उपाय सुनिश्चित करने के निवेदन किये हैं।