कोरोनावायरस से निपटने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका अब चीन की मदद करेगा | ZNDM NEWS

कोरोना वायरस कोरोनावायरस से इन दिनों पूरा देश डरा हुवा है| और इन दिनों चीन में कोरोना वायरस कोरोनावायरस  को लेकर हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। इससे निपटने के लिए अमेरिका अब चीन की मदद करेगा। राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने कहा कि हम चीन में कोरोना वायरस  कोरोनावायरस के प्रकोप से निपटने के लिए चीनी सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे।

कोरोना वायरस कोरोनावायरस से इन दिनों पूरा देश डरा हुवा है| और इन दिनों चीन में कोरोना वायरस कोरोनावायरस  को लेकर हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। इससे निपटने के लिए अमेरिका अब चीन की मदद करेगा। राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने कहा कि हम चीन में कोरोना वायरस  कोरोनावायरस  के प्रकोप से निपटने के लिए चीनी सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे। चीन में कोरोना वायरस कोरोनावायरस की वजह से अबतक 492 लोगों की मौज हो चुकीा है, जबकि 24 हजार से ज्यादा लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को स्टेट ऑफ द यूनियन संबोधन के दौरान कहा कि उनका प्रशासन चीनी सरकार के साथ मिलकर काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि अपने नागरिकों को वायरस से बचाने के लिए हमारा प्रशासन सभी आवश्यक कदम उठाएगा।  से वूहान शुरू यह रहस्यमय वायरस पूरे चीन समेत दुनिया के 25 देशों में दस्तक दे चुका है। डब्ल्यूएचओ ने पिछले हफ्ते वायरस के प्रकोप को ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया था।
इससे पहले तेजी से फैल रहे कोरोनावायरस से मुकाबला करने के लिए चीन ने अमेरिकी स्वास्थ्य विशेषज्ञों को देश में आने की अनुमति दी थी। अमेरिकी राष्ट्रपति भवन ह्वाइट हाउस के अनुसार, 'चीन ने अपने हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान से फैले वायरस से मुकाबले में मदद के लिए अमेरिकी प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। अमेरिकी विशेषज्ञ विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ के मिशन के तहत जाएंगे।' इससे पहले चीन ने अमेरिका पर आरोप लगाया था कि वह कोरोनावायरस  में कोई ठोस मदद करने की जगह यात्रा प्रतिबंध और वुहान से अपने राजनयिकों को निकालकर डर फैला रहा है।