कोरोना वायरस के बाद, अब बर्ड फ्लू का खतरा | स्वास्थ्य समाचार

कोरोना वायरस  के बाद अब बर्ड फ्लू का डर लोगों को सता रहा है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वी  बी सिंह ने बताया कि वाराणसी के सभी अस्पतालों  में बर्ड फ्लू व् स्वाइन फ्लू को ले कर अलर्ट जारी किया गया है | हालाँकि इनको लेकर अब तक कोई केस आमने नहीं आया है | लेकिन रोहनिया के मोहनसराय में मृत मिले कौवों में बर्ड फ्लू के वायरस की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य विभाग इससे निपटने की तैयारी में जुट गया है।

कोरोना वायरस  के बाद अब बर्ड फ्लू का डर लोगों को सता रहा है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वी  बी सिंह ने बताया कि वाराणसी के सभी अस्पतालों  में बर्ड फ्लू व् स्वाइन फ्लू को ले कर अलर्ट जारी किया गया है | हालाँकि इनको लेकर अब तक कोई केस आमने नहीं आया है | लेकिन रोहनिया के मोहनसराय में मृत मिले कौवों में बर्ड फ्लू के वायरस की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य विभाग इससे निपटने की तैयारी में जुट गया है। आदेश के क्रम में अस्पताल अलर्ट मोड़ में आ गए हैं , वार्ड आरक्षित करने के साथ ही दवाओं का  पर्याप्त इंतेज़ाम भी किया जा रहा है | मोहनसराय में मृत मिले कौवों के केस की लोगों में भी चर्चा शुरू हो गई है।वही  मृत कौवों  के  सैंपल जांच के लिए भोपाल स्थित लैब भेजे गए थे। भोपाल से आई रिपोर्ट में एक कौवे में एच5एन1 वायरस की पुष्टि हुई है। एवियन इन्फ्लूएंजा(एच5, एन1) वायरस को बर्ड फ्लू भी कहते हैं।इस क्रम में बुधवार को शहर के 60 दुकानों से  102 मुर्गिओं के ब्लड सैंपल लिए गए | सभी को बरेली जाँच के लिए भेजा जा चूका है|  वही  इसका संक्रमण पक्षियों के साथ ही इंसानों को प्रभावित करता है। मुर्गा, बत्तख आदि पक्षियों में इसकी संभावना अधिक रहती है। समय से ध्यान न देने पर मौत भी हो सकती है।चिकित्सकों के मुताबिक, बर्ड फ्लू के वायरस संक्रमण काफी तेजी से होता है। अगर समय रहते सावधानी नहीं बरती गई तो खतरा बढ़ सकता है। जिस इलाके में वायरस मिला है, उस क्षेत्र के लोगों के साथ अन्य लोगों को भी सतर्कता बरतने की जरूरत है। खासकर, चिकन और अंडे के सेवन के प्रति विशेष सावधानी बरतनी होगी