India-China Border Dispute- सादे कपड़ो में भारतीय सीमा में घुसपैठ कर रहे चीनी जवानो के मंसूबो पर ITBP के सैनिकों ने फेरा पानी

पिछले कई महीनो से भारत-चीन सीमा विवाद चल रहे और कई दोनों देशों के बीच जारी शांति वार्ता भी हो चुकी है | लेकिन उसके बावजूद भी चीनी सेना लगातार घुसपैठ के प्रयास कर रही है| इसी क्रम में चीनी सैनिक सादे कपड़ों में लद्दाख सीमा पार कर भारत में घुसने की कोशिश करते पकड़े गए हैं| अंगेर्जी अख़बार TOI की खबर के मुताबिक ये घटना लेह से 135 किलोमीटर पूर्व में मौजूद न्योमा एरिया के चानतांग गांव की बतायी जा रही है. हालांकि चीनी सेना ज्यादा अन्दर नहीं घुर सके और उन्हें ITBP के जवानों और स्थानीय लोगों ने ही पीछे धकेल दिया|

India-China Border Dispute- सादे कपड़ो में भारतीय सीमा में घुसपैठ कर रहे चीनी जवानो के मंसूबो पर ITBP के सैनिकों ने फेरा पानी

पिछले कई महीनो से भारत-चीन सीमा विवाद चल रहे और कई दोनों देशों के बीच जारी शांति वार्ता भी हो चुकी है | लेकिन उसके बावजूद भी चीनी सेना लगातार घुसपैठ के प्रयास कर रही है| इसी क्रम में चीनी सैनिक सादे कपड़ों में लद्दाख सीमा पार कर भारत में घुसने की कोशिश करते पकड़े गए हैं| अंगेर्जी अख़बार TOI की खबर के मुताबिक ये घटना लेह से 135 किलोमीटर पूर्व में मौजूद न्योमा एरिया के चानतांग गांव की बतायी जा रही है. हालांकि चीनी सेना ज्यादा अन्दर नहीं घुर सके और उन्हें ITBP के जवानों और स्थानीय लोगों ने ही पीछे धकेल दिया| 

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक ख़बर के अनुसार भारत-चीन सीमा पर चीनी सैनिक दो गाड़ियों में बैठ सीमा पार कर भारतीय क्षेत्र में घुस गए थे| चानतांग के स्थानीय लोगों ने रविवार को इसका कथित वीडियो शेयर किया है| हालांकि बता दें कि भारतीय सेना और ITBP ने इस संबंध में कोई बयान जारी किया है और न ही इस घटना को कन्फर्म किया है| शेयर को रहे वीडियो के मुताबिक चीनी सैनिकों का एक समूह दो गाड़ियों के जरिए भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर रहा थे, ये लोग सादे लिबास में थे और स्थानीय चरवाहों को अपने पशु वहां चराने से मना कर रहे थे| 


हालांकि इसी दौरान स्थानीय निवासियों ने उनका कड़ा विरोध करना शुरू कर दिया और उन्हें वापस लौटना पड़ा| लोगों के मुताबिक इस दौरान ITBP के जवानों ने भी वहां पहुंचकर चीनी सैनिकों को चेतावनी दी| हालांकि ये भी स्पष्ट नहीं है कि गाड़ी में मौजूद चीनी नागरिक सैनिक ही थे|  न्योमा के काउंसिलर के हवाले से वेबसाइट ने कहा है कि ये घटना कथित तौर पर चार-पांच दिन पहले की है|  बता दें कि चानतांग गांव में लेह की बड़ी आबादी रहती है और इस जगह पर हमेशा से ही चीन की नज़र बनी हुई है|