आज है वीर मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी की जयंती, प्रधानमंत्री समेत पूरा देश आज उनकी वीरता को याद कर रहा है

आज वीर मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी की जयंती है| उनका पूरा नाम शिवाजी भोंसले था| शिवाजी के पिता का नाम शाहजी भोंसले और मां का नाम जीजाबाई था| आज यानी 19 फरवरी, 2021 को छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती है। इस अवसर पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है। इतिहास के पन्नों में स्वर्ण अक्षरों में दर्ज शिवाजी की गौरव गाथा को सभी याद कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह से लेकर तमाम दिग्गजों ने उन्हें नमन किया है।

आज है वीर मराठा योद्धा  छत्रपति शिवाजी की जयंती, प्रधानमंत्री समेत पूरा देश आज उनकी वीरता को याद कर रहा है

आज वीर मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी की जयंती है| उनका पूरा नाम शिवाजी भोंसले था| शिवाजी के पिता का नाम शाहजी भोंसले और मां का नाम जीजाबाई था| आज यानी 19 फरवरी, 2021 को छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती है। इस अवसर पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है। इतिहास के पन्नों में स्वर्ण अक्षरों में दर्ज शिवाजी की गौरव गाथा को सभी याद कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह से लेकर तमाम दिग्गजों ने उन्हें नमन किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा,' मां भारती के अमर सपूत छत्रपति शिवाजी महाराज को उनकी जयंती पर शत-शत नमन। उनके अदम्य साहस, अद्भुत शौर्य और असाधारण बुद्धिमत्ता की गाथा देशवासियों को युगों-युगों तक प्रेरित करती रहेगी। जय शिवाजी!|  


वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए लिखा,' राष्ट्रीयता के जीवंत प्रतीक छत्रपति शिवाजी महाराज ने अपनी अद्वितीय बुद्धिमता, अद्भुत साहस व उत्कृष्ट प्रशासनिक कौशल से सुशासन की स्थापना की। अपनी दूरदर्शिता से उन्होंने एक मजबूत नौसेना बनाई व कई जन-कल्याणकारी नीतियों की भी शुरुआत की। ऐसे राष्ट्रगौरव को कोटि-कोटि वंदन।

छत्रपति शिवाजी महाराज एक महान योद्धा थे। उन्होंने अपने शौर्य, पराक्रम और कुशल युद्धनीति के चलते मुगल साम्राज्य के छक्के छुड़ा दिए थे। बचपन से वह ही निडर और साहसी थे। शिवाजी महाराज का जन्म 19 फरवरी 1630 में शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। उनके पिता का नाम शाहजी भोसले और माता का नाम जीजाबाई था।शिवाजी ने बचपन से ही युद्ध कला और शस्त्र कला सीखनी शुरू कर दी थी. इसके साथ ही उन्होंने राजनीति और कूटनीति का भी अच्छा ज्ञान था. शिवाजी ने सन 1674 में मराठा साम्राज्य की आधारशिला रखी थी|  वर्ष 1674 में उन्होंने ही मराठा साम्राज्य की नींव रखी थी।