छठ पूजा के पहले दिन यमुना नदी में जहरीले झाग के बीच श्रद्धालुओं ने यमुना नदी में स्नान किया

Chhath Puja 2021: दिवाली के बाद हर साल की तरह इस बार भी देशभर में प्रदूषण का कहर दिखाई दे रहा है जिसकी वजह से यमुना नदी जहरीली झाग के में लिपटी दिखी | साथ ही इसी बीच में छठ पूजा आने वाला है जिसके लिए श्रद्धालु यमुना नदी के जहरीले पानी में पूजा करते हुए नजर आए | छठ के महापर्व की शुरुआत आज नहाए-खाये के साथ हो गई है.

छठ पूजा के पहले दिन यमुना नदी में जहरीले झाग के बीच श्रद्धालुओं ने यमुना नदी में स्नान किया

Chhath Puja 2021: दिवाली के बाद हर साल की तरह इस बार भी देशभर में प्रदूषण का कहर दिखाई दे रहा है जिसकी वजह से यमुना नदी जहरीली झाग के में लिपटी दिखी | साथ ही  इसी बीच में छठ पूजा आने वाला है जिसके लिए श्रद्धालु यमुना नदी के जहरीले पानी में पूजा करते हुए नजर आए | छठ के महापर्व की शुरुआत आज  नहाए-खाये के साथ हो गई है. नहाए खाये के दिन व्रती नदी-पोखर या कृत्रिम घाट पर स्नान करती हैं और नदी के जल से ही आज का प्रसाद बनाती हैं. पहले दिन के प्रसाद में सेंधा नमक का प्रयोग होता है और चने की दाल-अरवा चावल, लौकी की सब्जी बनायी जाती है. ये पूरा खाना पूरी पवित्रता के साथ नदी में स्नान करने के बाद बनाया जाता है. 

 

 


चार दिवसीय इस अनुष्ठान पर एक तो कोरोना का साया तो दूसरे प्रदूषण का भी कहर देखा जा रहा है. दिल्ली में भी छठ का त्योहार मनाया जा रहा है, लेकिन यहां के छठ घाटों से जो तस्वीरें सामने आ रहीं हैं वो देखकर आप चौंक जाएंगे और जरूर पूछेंगे कि क्या यमुना नदी में बर्फ तैर रही और उसमें छठ की व्रती महिलाएं डुबकी लगा रही हैं.

 

 

 


लेकिन, आपको बता दें कि यमुना में बर्फ नहीं तैर रही है, ये जहरीला झाग है जो काफी खतरनाक माना जाता है. छठ का त्योहार मनाने के क्रम में दिल्ली में श्रद्धालुओं ने छठ पूजा के पहले दिन  यमुना नदी में जहरीले झाग के बीच यमुना नदी में स्नान किया और डुबकी लगाई. यहां पर मौजूद एक ​श्रद्धालु महिला ने बताया कि यहां पानी बहुत गंदा है, लेकिन छठ पूजा में नहाना पड़ता है इसलिए हम नहाने आए हैं.