CBSE 10वीं और 12वीं के परिणाम 15 अगस्त तक हो सकते है घोषित - CBSE Board Exam Result 2020

[CBSE Board Exam Result 2020] निशंक ने साफ किया है कि अगस्त 2020 के बाद ही स्कूलों को दोबारा खोलने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।उन्होंने यह भी बताया कि ... (पूरा पढ़े)

CBSE 10वीं और 12वीं के परिणाम 15 अगस्त तक हो सकते है घोषित - CBSE Board Exam Result 2020
CBSE 10वीं और 12वीं के परिणाम 15 अगस्त तक हो सकते है घोषित - CBSE Board Exam Result 2020

CBSE 10वीं और 12वीं के परिणाम 15 अगस्त तक हो सकते है घोषित - CBSE Board Exam Result 2020


Lockdown में लगभग 2 महीनो से बंद पढ़े सभी गतिविधियों को जहाँ एक ओर केन्दीय सरकार द्वारा छूट मिलना शुरू हो गयी है वहीं कुछ एहम फैसले लेना अब भी बाकि है।देश में अनलॉक-1 के तहत अब होटेल,मॉल्स,रेस्तरां,दुकाने और धार्मिक स्थल आदि खोलने की अनुमति दे दी गयी है।वहीं विद्यालयों को फिर से खोलने के फैसले पर मंथन जारी है।जहाँ एक ओर कई निजी विद्यालयों ने स्कूलों को एहतियात के साथ खोलने पर ज़ोरदिया है वहीं बिगड़ते हालातों को देखते हुए बच्चो के माता-पिता  की चिंता दोगुनी होती जा रही है।

[CBSE Board Exam Result 2020] 
इस बिच CBSE का एक बढ़ा फैसला आज सामने आया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने CBSE की 10वीं और 12वीं के नतीजे 15 अगस्त तक घोषित किए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि 'हम आशा करते हैं कि 10वीं और 12वीं दोनों ही कक्षा के नतीजे 15 अगस्त तक घोषित कर दिए जाएंगे। इनमें पूर्व में हुई परीक्षाएं एवं जुलाई में होने वाली परीक्षाओं का परिणाम शामिल है।'  स्कूलों को पुनः खोले जाने के विषय पर केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा, 'अगस्त के बाद स्कूलों को खोलने की प्रक्रिया बनेगी।'


निशंक ने साफ किया है कि अगस्त 2020 के बाद ही स्कूलों को दोबारा खोलने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।उन्होंने यह भी बताया कि स्कूल खोलने के संदर्भ में अंतिम निर्णय मौजूदा हालातों का आकलन करने के बाद  ही लिया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मुताबिक अगस्त के बाद ही विश्वविद्यालयों में भी नए सेशन की भी शुरुआत हो सकेगी।वहीं दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने भी स्कूल खोले जाने के विषय पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय को एक पत्र लिखा है।


दिल्ली के शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्र में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कोरोना के साथ जीने की आदत डालने की बात का हवाला देते हुए कहा  कि हमारा ऐसे में स्कूलों को उचित सुरक्षा उपायों के साथ खोलना ही बेहतर कदम होगा।' साथ ही सिसोदिया ने लिखा है कि 'सबसे पहले, हमें हर बच्चे को भरोसा दिलाना होगा कि वह हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं।अपने स्कूल के भौतिक और बौद्धिक परिवेश पर सबका समान अधिकार है। केवल ऑनलाइन क्लास से शिक्षा आगे नहीं बढ़ सकती। केवल बड़े बच्चों को स्कूल बुलाना और छोटे बच्चों को अभी घर में ही रखने से भी शिक्षा को आगे बढ़ाना असंभव होगा।'