बिपिन रावत का बड़ा बयान 2022 तक पांच थिएटर कमांड होंगे भारत में | भारतीय सेना| ZNDM NEWS |

प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को कहा कि भारत में पश्चिमी और उत्तरी सीमाओं पर भविष्य की सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए दो से पांच थियेटर कमान होंगी और ऐसी पहली कमान 2022 तक प्रभाव में आ जाएगी। सीडीएस ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा संबंधी चुनौतियों को एक विशेष थियेटर कमान संभालेगी।

प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को कहा कि भारत में पश्चिमी और उत्तरी सीमाओं पर भविष्य की सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए दो से पांच थियेटर कमान होंगी और ऐसी पहली कमान 2022 तक प्रभाव में आ जाएगी। सीडीएस ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा संबंधी चुनौतियों को एक विशेष थियेटर कमान संभालेगी।उन्‍होंने बताया, ‘हमारी योजना नेवी की पूर्वी और पश्चिमी कमान के साथ एक प्रायद्वीप कमान  के निर्माण की है। कमांड के क्षेत्र को पश्चिम में सर क्रीक और पूर्व में सुंदरबन से शुरू करने की योजना है।'
CDS जनरल बिपिन रावत ने कहा, ‘हमारे पास जम्‍मू कश्‍मीर थिएटर अलग हो सकता है लेकिन  इसके आकार को लेकर निर्णय बाद में होगा। लॉजिस्‍टिक्‍स व ट्रेनिंग के लिए अलग-अलग संयुक्‍त कमान पर भी काम कर रहे हैं। उन्‍होंने अपनी प्राथमिकता के तौर पर सबमरीन का उल्‍लेख करते हुए कहा, नेवी के लिए विमान वाहक पोत की तुलना में प्राथमिकता सबमरीन हैं।'
उन्‍होंने इशारा किया कि देश के दक्षिणी हिस्‍से में भारत का एक प्रायद्वीप कमांड होगा जिसमें मौजूदा पूर्वी नेवी व पूर्वी नेवी कमांड केंद्रों को शामिल किया जाएगा। इसके अलावा जम्‍मू कश्‍मीर के लिए अलग कमांड केंद्र बनेगा। उन्‍होंने बताया कि यह अरब सागर में सर क्रीक से लेकर बंगाल की खाड़ी में सुंदरबन तक फैला रहेगा। उन्‍होंने आगे कहा कि वायु रक्षा कमांड अगले साल की शुरुआत में और प्रायद्वीप कमांड 2021 के अंत तक शुरू की जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय वायु सेना, भारतीय वायु रक्षा कमांड के अंतर्गत आएगी। लंबी दूरी की सभी मिसाइलें और वायु रक्षा से जुड़ी संपत्ति इसके अंतर्गत होंगी।
उन्होंने 114 लड़ाकू विमानों सहित बड़े सौदों की क्रमबद्ध तरीके से खरीदारी की नीति का उल्‍लेख किया और कहा, ‘स्वदेश निर्मित विमान वाहक पोत के प्रदर्शन का आकलन करने के बाद नौसेना की तीसरे विमान वाहक पोत की मांग पर भी विचार किया जाएगा। उन्‍होंने आगे कहा कि थियेटर कमांडों की संख्‍या दो से लेकर पांच तक हो सकती है।
 भारत में अभी केंद्रीय एकीकृत कमान की स्थापना नहीं हुई है। भारत में कुल 19 कमान हैं। इनमें से थल सेना के 7, वायु सेना के 7 और नौसेना के तीन और दो ट्राई- सर्विस कमांड हैं। तीनों सेनाओं के कमांड को एकीकृत कर संयुक्त थिएटर कमान बनाने की बात पर विचार किया जा रहा है। संयुक्त थिएटर कमांड में तीनों सेनाएं और उनके लॉजिस्टिक शामिल होंगे।