अलीबाबा ग्रुप के मालिक रहे जैक मा, राष्ट्रपति शी जिनपिंग से नाराजगी के बाद 2 महीने से है गायब

अलीबाबा कंपनी के मालिक और चीनी अरबपति जैक मा करीब 2 महीनों से किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में नज़र नहीं आए हैं| रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी सरकार खासकर राष्ट्रपति शी जिनपिंग की नाराजगी के बाद से ही न सिर्फ जैक मा का कारोबार निशाने पर है, बल्कि वे सार्वजनिक कार्यक्रमों में आने से भी परहेज कर रहे हैं| जैक मा से पहले भी कई चीनी अरबपति इसी तरह कम्युनिस्ट पार्टी या सरकार के निशाने पर आ चुके हैं|

अलीबाबा ग्रुप के मालिक रहे जैक मा, राष्ट्रपति शी जिनपिंग से नाराजगी के बाद 2 महीने से है गायब

अलीबाबा कंपनी के मालिक और चीनी अरबपति जैक मा करीब 2 महीनों से किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में नज़र नहीं आए हैं| रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी सरकार खासकर राष्ट्रपति शी जिनपिंग की नाराजगी के बाद से ही न सिर्फ जैक मा का कारोबार निशाने पर है, बल्कि वे सार्वजनिक कार्यक्रमों में आने से भी परहेज कर रहे हैं|  जैक मा से पहले भी कई चीनी अरबपति इसी तरह कम्युनिस्ट पार्टी या सरकार के निशाने पर आ चुके हैं|  जैक मा के इस तरह गायब होने के बाद कई तरह के संदेह भी जाहिर किये जा रहे हैं| ANT ग्रुप के फाउंडर चीन के सबसे अमीर लोगों में से एक जैक अलीबाबा के भी फाउंडर हैं| 

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक जैक मा चीन में अक्सर सार्वजनिक कार्यक्रमों में बतौर वक्ता उपलब्ध रहते हैं और अपने मोटिवेशनल भाषणों के लिए भी युवाओं में काफी लोकप्रिय हैं|  जैक मा ने बीते अक्टूबर में चीन के सरकारी बैंकों पर 'सूदखोर सेठों' जैसा व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वो सिर्फ उन्हीं को लोन देते हैं जो बदले में कुछ गिरवी रखें. जैक मा ने चीन के बैकिंग सिस्टम की आलोचना करते हुए उसे पुराना और घिसा-पिटा करार दिया था, जिसके बाद वे आलोचनाओं के घेरे में आ गए थे|  ख़बरों के मुताबिक जैक मा की इस राय पर कम्युनिस्ट पार्टी और सरकार के अफसरों ने कड़ी आपत्ति दर्ज की थी| इसी के बाद दुनिया की सबसे बड़ी 37 बिलियन डॉलर की Ant Group की आईपीओ को भी जिनपिंग के आदेश के बाद टाल दिया गया था| जैक मा बीते दो महीनों में कई कार्यक्रमों में शामिल होने वाले थे लेकिन आखिरी वक़्त पर उनका नाम गेस्ट या स्पीकर लिस्ट से हटा दिया गया| बीते दोनों मशहूर टीवी से भी अचानक ही जैक मा का नाम हटा दिया गया. यहां तक कि शो के पोस्टर से भी उनकी तस्वीर हटा दी गयी है| गौरतलब है कि इस शो को प्रोड्यूस करने वाली कंपनी जैक मा की ही है और उन्हें खुद के शो से ही बाहर होना पड़ा है|  इसके अलावा कई यूनिवर्सिटी और अन्य जगहों से भी बतौर वक्ता उनके कार्यक्रम में आने की घोषणा तो की गई थी, लेकिन आखिरी वक़्त पर उनका नाम ही हटा दिया गया| 

जैक मा की कंपनी को हुआ करीब 80 करोड़ का नुकसान 
अलीबाबा के को-फाउंडर जैक मा को अक्तूबर के अंत से करीब 11 अरब डॉलर का झटका लगा है. भारतीय मुद्रा में ये रकम 80 हज़ार करोड़ रुपये से भी ज़्यादा है| ऐसा अधिकारियों के उनकी कंपनी और दूसरे बड़े टेक समूहों पर अपनी निगरानी बढ़ाने के चलते हुआ| अलीबाबा चीन की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है| इस साल मा की दौलत करीब 61.7 अरब डॉलर पर पहुंच गई और वे एक बार फिर से चीन के सबसे रईस शख्स बनने के करीब पहुंच गए|  ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के मुताबिक, हालांकि, जैक मा की नेट वर्थ घटकर 50.9 अरब डॉलर पर आ गई. इस लिस्ट में उन्हें चौथे पायदान पर रखा गया है|