भारत चीन सीमा विवाद से टिक टॉक को हुआ काफी नुकसान, रैंकिंग में आई भारी गिरावट

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच 5 मई को टकराव की पहली बार खबर आई थी| जिसके बाद से ही पुरे देश भर में चीनी सामान और चीनी एप्प को बैन करने की मांग सोशल मीडिया पर उठने लगी....(पूरा पढ़े)

भारत चीन सीमा विवाद से टिक टॉक को हुआ काफी नुकसान, रैंकिंग में आई भारी  गिरावट
भारत चीन सीमा विवाद से टिक टॉक को हुआ काफी नुकसान, रैंकिंग में आई भारी गिरावट

भारत चीन सीमा विवाद से टिक टॉक को हुआ काफी नुकसान, रैंकिंग में आई भारी  गिरावट

लद्दाख में भारत-चीन के बीच सीमा विवाद की वजह से देश में चीनी उत्पादों के बहिष्कार की बढ़ती मांग की वजह से भारत में टिक टॉक जैसे लोकप्रिय चीनी एप को काफी चोट पहुंच रही है| भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच 5 मई को टकराव की पहली बार खबर आई थी| जिसके बाद से ही पुरे देश भर में चीनी सामान और चीनी एप्प को बन करने की मांग सोशल मीडिया पर उठने लगी |

बता दे ,फिनलैंड स्थित मोबाइल-रैंकिंग प्लेटफॉर्म एपफॉलो के मुताबिक टिक टॉक जैसे एप को लद्दाख सीमा पर तनाव की वजह से भारतीयों के गुस्से का सामना करना पड़ा है. जिस से चीनी एप्प टिक टोक की रेटिंग और रैंकिंग में भारी गिरावट आई है | इससे पहले भारत में एपल के प्लेटफॉर्म पर टॉप10 फ्री एप में लोकप्रिय माइक्रो वीडियो एप टिक टॉक को 5वीं रैंकिंग हासिल थी. करीब एक महीने बाद टिक टॉक एप 10वें पायदान पर खिसक आया है| 

एंड्रॉयड यूजर्स में भारत में टिक टॉक की रैंकिंग 3 से गिरकर 5 पर आ गई है, लेकिन यह अब भी भारत में टॉप 10 लोकप्रिय एप की सूची में शामिल है|  चीनी एप शेयरइट ने भी गूगल के एंड्राइड प्लेटफॉर्म पर रैंकिंग में उतार देखा है|  यह 11वें नम्बर से खिसक कर 16वें नंबर पर आ गया है.तेजी से उभरते चीनी कंटेंट-शेयरिंग और सोशल-नेटवर्किंग एप हेलो की भी आईफोन यूजर के बीच रैंकिंग में गिरावट आई है. यह 30वें पायदान से नीचे खिसक कर 42 पर आ गया है. एंड्रॉयड पर फ्री एप टॉप10 की केटेगरी से हेलो बाहर हो गया है. यह 8वें नंबर से गिरकर 12वें स्थान पर आ गया है| 

आपको बता दे की हाल में ही गूगल ने  भारतीय मित्रों एप को हटा दिया, इसे टिक टॉक का भारतीय विकल्प कह कर प्रचारित किया जा रहा था| भारत में टिक टोक एप्प सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है और ऐसे में चीनी एप्प के बहिष्कार से चीन को काफी नुकसान हो सकता है |