गलन की चपेट में बनारस ,पश्चिमी विक्षोभ की वजह से बारिश की संभावना

शहर बनारस में गलन काफी बढ़ गया है आज वाराणसी में धुप तो निकली है लेकिन मौसम में गलन कम नहीं हुवा बता दें मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को पूरे दिन 10 किमी प्रतिघंटा की गति से बही बर्फीली हवाओँ ने काफी गलन बढ़ा दी है । आलम ये है की बर्फिली हवाओं से बच्चे और बुजुर्ग घऱ में दुबकने को विवश हैं। आज इसी क्रम में सुबह भी धुंध और कोहरा छाया रहा। जिसके वजह से पूरा शहर गलन से परेशान है | देश के पशिचमोत्तर हिस्सों में जमकर हो रही बर्फबारी और रविवार को जम्मु कश्मीर पहुंचे पश्चिमी विक्षोभ का असर पूरे पूर्वी उत्तर प्रदेश में देखने को मिल रहा है।

गलन की चपेट में बनारस ,पश्चिमी विक्षोभ की वजह से बारिश की संभावना

शहर बनारस में गलन काफी बढ़ गया है आज वाराणसी में धुप तो निकली है लेकिन मौसम में गलन कम नहीं हुवा बता दें मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को पूरे दिन 10 किमी प्रतिघंटा की गति से बही बर्फीली हवाओँ ने काफी गलन बढ़ा दी है । आलम ये है की बर्फिली हवाओं से बच्चे और बुजुर्ग घऱ में दुबकने को विवश हैं। आज इसी क्रम में  सुबह भी धुंध और कोहरा छाया रहा। जिसके वजह से पूरा शहर गलन से परेशान है | देश के पशिचमोत्तर हिस्सों में जमकर हो रही बर्फबारी और रविवार को जम्मु कश्मीर पहुंचे पश्चिमी विक्षोभ का असर पूरे पूर्वी उत्तर प्रदेश में देखने को मिल रहा है।

 

 

 पछुआ हवा चलने से और ज्यादा ठंड बढ़ गई है। लोग सर्दी से बचने के लिए अलाव का सहारा ले रहे हैं। वहीं अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस रहेगा। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल में कोहरे का दौर बना हुआ है और पहाड़ों पर बादलों की सक्रियता का दौर है। वहीं कहा जा रहा है की एक पश्चिमी विक्षोभ का असर बीतने के बाद दूसरे विक्षोभ का असर भी जल्‍द आएगा। माना जा रहा है कि गलन का यह असर सप्ताह भर में कम होगा तो बादलों का दौर दोबारा हो सकता है।