बाबा विश्वनाथ का रुद्राभिषेक टिकट हुवा महंगा सीईओ को पता नहीं

भक्तो ने इस मनमाने दाम पर अपनी आवाज उठाई तो मंदिर प्रबंधन हरकत में आया।  और जवाब देते हुवे बोला "भक्तों की संख्या में कमी और महंगाई के कारण अस्थाई रूप से ऐसा किया गया है"।

बाबा विश्वनाथ का रुद्राभिषेक टिकट हुवा महंगा सीईओ को पता नहीं

काशी को मंदिरो का शहर कहा जाता है और काशी की पहचान ही बाबा विश्वनाथ से है लेकिन बाबा का दर्शन भी अब भक्तो के लिए काफी महंगा हो गया है| दरसअल सावन को सुरु होने को कुछ ही दिन बाकी है और इस बीच रुद्राभिषेक का टिकट का दाम  डेढ़ गुना कर दिया गया। जब भक्तो ने इस मनमाने दाम पर अपनी आवाज उठाई तो मंदिर प्रबंधन हरकत में आया।  और जवाब देते हुवे बोला "भक्तों की संख्या में कमी और महंगाई के कारण अस्थाई रूप से ऐसा किया गया है"।

आप को बतादे इसकी सुचना अभी सार्वजनिक नहीं की गई और टिकट महंगी कर दी गई है  अब दोबारा पुराने रेट पर टिकट की बिक्री हो रही है।आप को बतादे एक भक्त के हिसाब से उसने जब रुद्राभिषेक टिकट खरीदा तो उसे 750 का मिला जबकि आम दिनों में ये टिकट 450 का मिलता है | भक्त को रसीद दी गई थी उसमे धनराशि में 480 रुपए मंदिर शुल्क, 150 रुपए ब्राह्मण की दक्षिणा और 120 रुपए पूजा की थाली के हैं।

वही पूरे मामले पर विश्वनाथ मंदिर के  नए सीईओ गौरांग राठी ने कहा कि लॉकडाउन में रुद्राभिषेक में प्रयुक्त होने वाली सामग्री भी पहले की कीमत पर उपलब्ध नहीं हो पा रही थी। जो सामग्री मिल रही थी उसकी कीमत अधिक थी।  ऐसे में आठ जून से 26 जून तक रुद्राभिषेक के लिए अस्थाई रूप से अधिक शुल्क लिया जा रहा था। अब 27 जून से पुराने रेट को ही लागू कर दिया गया है।