अमेरिका ने Xiaomi समेत इन 9 चीनी कंपनियों को किया बैन

अमेरिका में डोनाल्ड ट्रम्प ने जाते जाते एक बड़ा फैसला लिया जिस से चीन को झटका लग सकता है | अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने अपने कार्यकाल के आखिरी दिन चीन के खिलाफ बड़ा फैसला लेते हुए 9 कपंनियों को बैक लिस्ट कर दिया है| जिन चाइनीज कंपनियों को ब्लैकलिस्ट में ऐड किया गया है, उनमें दुनिया की तीसरी बड़ी स्मार्टफोन कंपनी शाओमी (Xiaomi) और प्लेन मेकर Comac समेत 9 कंपनियां शामिल हैं|

अमेरिका ने Xiaomi समेत इन 9 चीनी कंपनियों को किया बैन

अमेरिका में डोनाल्ड ट्रम्प ने जाते जाते एक बड़ा फैसला लिया जिस से चीन को झटका लग सकता है | अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने अपने कार्यकाल के आखिरी दिन चीन के खिलाफ बड़ा फैसला लेते हुए 9 कपंनियों को बैक लिस्ट कर दिया है| जिन चाइनीज कंपनियों को ब्लैकलिस्ट में ऐड किया गया है, उनमें दुनिया की तीसरी बड़ी स्मार्टफोन कंपनी शाओमी (Xiaomi) और प्लेन मेकर Comac समेत 9 कंपनियां शामिल हैं| इस फैसले के बाद अमेरिकी इनवेस्टर्स को इन कंपनियों में अपने निवेश से बाहर निकलना होगा| जिसके लिए निवेशकों को 11 नवंबर 2021 तक ऐसा करना होगा| इससे पहले अमेरिका चाइनीज कंपनी Huawei और ZTE के साथ भी ऐसा कर चुका है| 

शाओमी के अलावा बैन होने वाली कंपनियों में चीन की प्लेन बनाने वाली कंपनी Comac, तेल प्रॉडक्शन कंपनी Cnooc का भी नाम शामिल है| CNOOC चीन की सबसे बड़ी और सरकारी ऑयल कंपनी है|  गौरतलब है कि Comac की सीधी टक्कर अमेरिका की प्लेन कंपनी एयरबस और बोइंग से है| वहीं शाओमी की सीधी टक्कर अमेरिका की एप्पल से है| इन कंपनियों पर चीनी सेना के साथ साठगांठ का आरोप लगाया गया है| अमेरिका ने वजह बताई है कि इन कंपनियों से राष्ट्र की सिक्योरिटी को खतरा है, जिसके चलते इन कंपनियों पर बैन का फैसला लिया गया है| बता दें कि इसके पहले दिसंबर 2020 में अमेरिकी सरकार ने 60 चीनी कंपनियों को काली सूची डाल में डाला था| जिन कंपनियों पर बैन लगाया गया है, उनमें चीनी स्मार्टफोन कंपनी Xiaomi, Cnooc के अलावा ज्यादातर कंपनियां एविएशन, एयरोस्पेस, टेलिकम्यूनिकेशन, कंस्ट्रक्शन क्षेत्र से जुड़ी हैं|  सरकार ने Xiaomi कंपनी को कम्यूनिस्ट चाइनीज मिलिट्री कंपनी के तौर पर लेबल किया है|