शहर बनारस में नहीं थम रहा अपराध कानून व्यवस्था को लेकर अजय राय ने सरकार को घेरा

वाराणसी में आज फल विक्रेता के परिजनों का हाल जानने के लिए पूर्व विधायक अजय राय बीएचयू स्थित पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे, जहां उन्होंने फल विक्रेता के पिता को ढाढस बंधाया, कहा कि इस दुख की घड़ी में कांग्रेसी उनके साथ खडे है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से अपराधियों के हौसले बुलंद है

शहर बनारस में नहीं थम रहा अपराध कानून व्यवस्था को लेकर अजय राय ने सरकार को घेरा

वाराणसी में आज फल विक्रेता के परिजनों का हाल जानने के लिए पूर्व विधायक अजय राय बीएचयू स्थित पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे, जहां उन्होंने फल विक्रेता के पिता को ढाढस बंधाया, कहा कि इस दुख की घड़ी में कांग्रेसी उनके साथ खडे है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से अपराधियों के हौसले बुलंद है यह कहीं न कहीं सरकार की नाकामी है बतादे रोहनिया थाना क्षेत्र स्थित आखरी के पास वरिष्ठ पत्रकार एवं रियल एस्टेट कारोबारी एनडी तिवारी की अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी वहीं दूसरी तरफ लंका के रविदास गेट पर फल विक्रेता को चाकू मारकर हत्या करने के बाद आज सुबह से पोस्टमार्टम हाउस में काफी संख्या में भीड़ इकट्ठा थी |

 


 
इस दौरान पोस्मार्टम हाउस पर स्थानीय लोगों के साथ  कई सपा कांग्रेस बीजेपी के लीडर भी पहुंचे थे. इस दौरान आपको बता दें कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय ने बनारस में हो रही घटनाओं को लेकर सरकार को घेरने का काम किया लगातार शहर में बढ़ते अपराध को लेकर के अजय राय ने कहा कि प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जिस तरह से लगातार हत्याएं हो रही है. अजय राय ने कहा है कि जब से योगी सरकार उत्तर प्रदेश में बनी है तब से कानून व्यवस्था चरमरा गई है शहर बनारस हो या उत्तर प्रदेश से कोई भी जिला हर जगह पर अपराध लगातार बढ़ता जा रहा है शासन प्रशासन के लाख कावायदों के बाद भी अपराध पर लगाम नहीं लगाया जा रहा है इसे साफ जाहिर हो रहा है कि अपराध को काबू में करने को लेकर प्रशासन खुद कमजोर है|  इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मेरी मांग है कि वरिष्ठ पत्रकार एवं फल विक्रेता की मौत के बाद उनके परिवार को 25-25 लाख रुपए का मुआवजा एवं सरकारी नौकरी दिया जाए। साथ ही जिस तरीके से प्रदेश में अपराध बढ़ते जा रहे हैं उस पर सरकार रोक लगाएं।

 



सरकार बड़े-बड़े दावे कर रही है कि अपराधीयो पर अंकुश लगाया गया है। उत्तर प्रदेश में अपराध कम हो रहा है लेकिन यह पूरी तरीके से असफल है ।
अजय राय ने कहा कि मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि सरकार अपराधियों को संरक्षण दे रही है, क्योंकि यह विदेश से नहीं आ रहे हैं यही के लोग हैं जो यहां के लोग को मार रहे हैं । इस तरीके की पहली भी कई घटना हो चुकी है पूर्व की कई घटनाएं नहीं खुल पाई है उस पर भी संसय बना हुआ है ।
इस दौरा अजय राय ने कहा की चाहे वाराणसी में कमिश्नरी लागू कर ले या यहां डीजीपी बैठा दें लेकिन अपराधियों पर अंकुश लगाने में सरकार पूरी तरीके से असफल है| उन्होंने कहा कि मृतक के परिवार को 25 लाख का मुआवजा और घर के किसी एक सदस्य को सरकारी नौकरी की सरकार को देनी चाहिए|