ए आई एम आई एम के मंच से पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने वाली लड़की को 14 दिन की न्यायिक हिरासत | ZNDM NEWS

बेंगलुरु. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन  चीफ असदुद्दीन ओवैसी  के मंच से पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने वाली लड़की को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. अमूल्या लियोना नाम की लड़की ने गुरुवार को बेंगलुरु में आयोजित ए आई एम आई एमकी एक रैली में ओवैसी की मौजूदगी में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे

बेंगलुरु. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन  चीफ असदुद्दीन ओवैसी   के मंच से पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने वाली लड़की को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. अमूल्या लियोना नाम की लड़की ने गुरुवार को बेंगलुरु में आयोजित AIMIM की एक रैली में ओवैसी की मौजूदगी में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे. लड़की ने इस दौरान नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) के खिलाफ नारेबाजी भी की थी. पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 124ए के तहत राजद्रोह का केस दर्ज कर लिया है. अमूल्या को परप्पाना अग्रहारा की सेंट्रल जेल में रखा गया है.बेंगलुरु पुलिस (Bengaluru Police) ने गुरुवार को  एक्टिविस्ट के खिलाफ देशद्रोह (Sedition) का मुकदमा दर्ज किया है. 
अमूल्या लिओना बेंगलुरु कॉलेज की स्टूडेंट है. बेंगलुरु के फ्रीडम पार्क में एआईएमआईएम ने सीएए के खिलाफ एक रैली आयोजित की थी. अमूल्या लिओना इस रैली में मंच पर चढ़ गई और माइक लेकर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने लगी.

हालांकि कुछ नारे लगाने के बाद ही आयोजकों ने उससे माइक छीन लिया और उसे मंच से उतार दिया गया. इसके बाद असदुद्दीन ओवैसी ने इस पर सफाई भी दी. उन्होंने मंच से ऐलान किया कि अमूल्या का उनकी पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है और उसका मंच से इस तरह के नारे लगाना गलत है. इसके तुरंत बाद अमूल्या को बेंगलुरु पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया और उस पर देशद्रोह की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है.

बता दें कि जिस समय लड़की ने मंच से पाकिस्तान समर्थित नारे लगाए उस वक्त असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने उन्हें रोकने की कोशिश भी की थी. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

इस पूरे मामले में अमूल्या लियोना के पिता ने नाराजगी जताते हुए कहा है कि उनकी बेटे ने एंटी CAA रैली में जो कुछ भी किया वह बिल्कुल गलत था. उन्होंने कहा कि बेटी की यह हरकत बर्दाश्त करने के लायक नहीं है. उन्होंने कहा मैंने कई बार बेटी को इस आंदोलन से दूर रहने की सलाह दी थी, लेकिन उसने उनकी बात नहीं मानी.
अमूल्या लियोन के पिता ने कहा कि मैं हार्ट का मरीज हूं. उसने मुझसे कल बात की थी और मेरी तबीयत का हालचाल पूछा था. उसके बाद से मेरी उसकी कोई बात नहीं हुई.