अभिभावकों को फीस के लिए मजबूर करने पर स्कूलों पर होगी कार्रवाही - UTTARPRADESH NEWS

लखनऊ जिलाधिकारी ने सभी स्‍कूलों को तीन माह की फीस ना लेने के निर्देश दिए हैं| अभिभावकों को फीस के लिए मजबूर करने पे स्कूल प्रशाशन के खिलाफ कारवाही के भी निर्देश दिए गए हैं | लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने रविवार इस बाबत आदेश जारी किए हैं

अभिभावकों को फीस के लिए मजबूर करने पर स्कूलों पर होगी कार्रवाही - UTTARPRADESH NEWS
अभिभावकों को फीस के लिए मजबूर करने पर स्कूलों पर होगी कार्रवाही - UTTARPRADESH NEWS

अभिभावकों को फीस के लिए मजबूर करने पर स्कूलों पर होगी कार्रवाही

कोरोना के संक्रमण  को देखते हुए  सरकार ने प्रदेश के सभी स्कूलों के लिए चेतावनी जारी की है| लखनऊ जिलाधिकारी ने सभी स्‍कूलों को तीन माह की फीस ना लेने के निर्देश दिए हैं| अभिभावकों को फीस के लिए मजबूर करने पे स्कूल प्रशाशन के खिलाफ कारवाही के भी निर्देश दिए गए हैं | लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने रविवार इस बाबत आदेश जारी किए हैं|| अब, स्कूल  अभिभावकों पर फीस वसूलने का दबाव नहीं बना सकेंगे|  आपको बता दें, इससे पहले बनारस, गौतमबुद्धनगर, कानपुर, आजमगढ़ और गोरखपुर के जिलाधिकारियों ने अप्रैल, मई और जून की फीस वसूलने वाले स्‍कूलों पर कार्रवाही के आदेश दे चुके हैं |

 गौरतलब है कि कोविड 19 के कारण देश 21 दिनों के लिए लॉकडाउन हैं, ऐसे में छात्रों के अभिभावकों का रोजगार भी प्रभावित हुआ है| लेकिन कई स्कूल लॉक डाउन के दौरान अप्रैल, मई और जून की फीस वसूलने लगे हैं|  इससे अभिभावकों में डर और अशांति फैल रही है| इसलिए सरकार ने प्रदेश के सभी  जिला अधिकारीयों  से इस बाबत कदम उठाने को कहा है| जिसके बाद महामारी के इस संकट काल में अभिभावकों के लिए यह राहत की खबर आई है| आदेश के अनुसार सभी शैक्षिक संस्थाओं के मैनेजमेंट कोरोना की इस आपदा के दौरान किसी भी अभिभावक को एडवांस फीस जमा करने के लिए बाध्य नहीं कर सकते |  वहीं, जो स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं चला रहे हैं, किसी भी छात्र या छात्रा को इस सुविधा से वंचित नहीं करेंगे और न ही किसी छात्र का नाम काट सकतें हैं |

सरकार ने स्कूल प्रबंधन का भी ख्‍याल रखा है|  अभिभावकों को मिलने वाली छूट का आर्थिक भार स्‍कूल प्रबंधन पर ना पड़े| लिहाजा, प्रशासन ने कोरोना  महामारी  खत्‍म होने के बाद स्‍कूल फीस को आगामी महीनों में समायोति करने के लिए योजना तैयार की है|  सभी निजी स्‍कूल प्रबंधन को आश्‍वस्‍त किया गया है कि माहमारी के खत्म होते ही तिमाही फीस को आगामी महीनों में समायोजित करके करने की कार्य योजना तैयार की जाएगी| जिसके तहत, अभिभावक आसान किस्‍तों में तिमाही फीस का भुगतान स्‍कूल को कर सकेंगे| वहीं, प्रशासन ने यह चेतावनी भी दी है कि फीस के लिए दबाव बनाने पर स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी|