गणतंत्र दिवस पर कई कैदी होंगे सज़ा मुक्त

इस गणतंत्र दिवस पर सेंट्रल जेल में उमर कैद की सजा काट रहे कैदियों को रिहा करने की तैयारी जोरों पर है । गणतंत्र दिवस 2021 पर दया याचिका पर आधारित समय से पूर्व उम्र कैदियों की रिहाई की मुहिम चल रही है । बता दे कि इसके अंतर्गत उम्र कैद की सजा काट रहे 16 वर्ष से अधिक के सज़ायाफ्ता कैदियों को उनके सजा अवधि पूरी होने से पहले ही उन्हें मुक्त करने पर विचार किया जा रहा है ।

गणतंत्र दिवस पर कई कैदी होंगे सज़ा मुक्त

इस गणतंत्र दिवस पर सेंट्रल जेल में उमर कैद की सजा काट रहे कैदियों को रिहा करने की तैयारी जोरों पर है । गणतंत्र दिवस 2021 पर दया याचिका पर आधारित समय से पूर्व उम्र कैदियों की रिहाई की मुहिम चल रही है । बता दे कि इसके अंतर्गत उम्र कैद की सजा काट रहे 16 वर्ष से अधिक के सज़ायाफ्ता कैदियों को उनके सजा अवधि पूरी होने से पहले ही उन्हें मुक्त करने पर विचार किया जा रहा है ।

बता दें कि गणतंत्र दिवस 2021 को 134 उम्र कैदियों को रिहा करने के लिए जेल प्रशासन की ओर से उनके नाम की सूची राज्यपाल को भेज दी गई है। जिनके सहमति के बाद ही 26 जनवरी को उम्र कैद की सज़ा काट रहे कैदियों को उनके अच्छे आचरण और अपराध की गंभीरता को देखते हुए रिहाई देने की चर्चा में शासन प्रशासन जुटी है ।

बता दें कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 164 के तहत सजा काट रहे कैदियों को समय से पहले रिहाई का अधिकार राज्यपाल के पास होता है जिसके लिए कुछ मानक भी तय है।इसमे कुछ गंभीर और संगीन उराध नई आते हैं।

संविधान के इस अनुच्छेद के तहत कारागार विभाग के आदेश पर 134 दोषसिद्ध कैदियों की सूची उनके अपराध की गंभीरता को देखते हुए तैयार कर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को भेजी गई है। बता दें कि वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने बताया कि आजीवन सजा पाए 134 दोषसिद्ध कैदियों को रिहा करने पर राज्यपाल की मंजूरी का इंतजार है।

 

जानकारी के अनुसार इसमें वाराणसी जिले का एक भी कैदी नहीं है जबकि गाजीपुर व जौनपुर में तीन कैदी के नाम सूची में शामिल है।