उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 - उत्तर प्रदेश की नई वोटर लिस्ट में तीन गुना बढ़ी युवा वोटर्स की तादाद |

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव टलने की संभावना नहीं है। गुरुवार को भारतीय चुनाव आयोग ने एक बार फिर यह संकेत दिए हैं। आयोग कोरोना की परिस्थितियों में चुनाव कराने के मद्देनजर तैयारियों की समीक्षा के लिए तीन दिन से उत्तर प्रदेश के दौरे पर है।उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 की नई वोटर लिस्ट में 18 से 19 साल के नए युवा वोटरों की तादाद तीन गुना बढ़ी है।

उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 - उत्तर प्रदेश की नई वोटर लिस्ट में तीन गुना बढ़ी युवा वोटर्स की तादाद |

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव टलने की संभावना नहीं है। गुरुवार को भारतीय चुनाव आयोग ने एक बार फिर यह संकेत दिए हैं। आयोग कोरोना की परिस्थितियों में चुनाव कराने के मद्देनजर तैयारियों की समीक्षा के लिए तीन दिन से उत्तर प्रदेश के दौरे पर है।उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 की नई वोटर लिस्ट में 18 से 19 साल के नए युवा वोटरों की तादाद तीन गुना बढ़ी है। पिछले दिनों राज्य में चलाए गए वोटर लिस्ट के संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान में 18 से 19 साल के कुल 19.89 लाख नए वोटर जुड़े हैं। यह जानकारी मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चन्द्रा ने प्रेस वार्ता में दी। हालांकि नई वोटर लिस्ट का फाइनल ड्राफ्ट 5 जनवरी को जारी होगा, उससे ठीक पहले मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ल इससे सम्बंधित आंकड़ों की जानकारी मीडिया से साझा करेंगे।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि प्रदेश की वोटर लिस्ट में अभी करीब 15 करोड़ वोटर हैं। वोटर लिस्ट में 52.8 लाख नए वोटर जोड़े गए हैं। नए जुड़े वोटरों में 23.92 लाख पुरूष और 28.82 लाख महिला वोटर जोड़ी गई हैं। इसीलिए इस वोटर लिस्ट में पुरुषों के मुकाबले महिला वोटरों का अनुपात भी बढ़ा है। 2017 के विधान सभा चुनाव की वोटर लिस्ट में प्रति एक हजार पुरूष पर 839 महिला वोटर थीं जबकि अब प्रति एक हजार पुरूष पर 868 महिला वोटर हो गई हैं यानि करीब 29 प्रतिशत महिला वोटरों की हिस्सेदारी बढ़ी है। उन्होंने कहा कि सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं कि हालांकि वोटर लिस्ट का संक्षिप्त पुनरीक्षण खत्म हो गया है इसके बावजूद अगर वोटर लिस्ट के बारे में कोई शिकायत आती है तो उसे तत्काल निस्तारित करवाएं।

आपको बता दे, चुनाव आयोग ने यूपी चुनाव की तारीखों को लेकर कोई बड़ा ऐलान नहीं किया है। हालांकि, उन्होंने बताया कि मतदाता पंजीकरण के कार्यक्रम के समापन के बाद निर्वाचक नामावली का 5 जनवरी को प्रकाशन किया जाएगा। चुनाव आयोग ने बताया कि प्रदेश में फिलहाल 15 करोड़ से ज्यादा मतदाता हैं। हालांकि सही आंकड़ा निर्वाचक नामावली प्रकाशित होने के बाद ही बताया जा सकेगा।