यस बैंक खाताधारकों के लिए राहत की खबर | ZNDM NEWS |

भारतीय रिजर्व बैंक प्रस्ताव के मुताबिक, अगले 3 साल के लिए प्रशांत कुमार को यस बैंक का नया प्रबंध निदेशक (मैनेजिंग डायरेक्टर) और चीफ एक्जीक्युटिव ऑफिसर  नियुक्त किया गया है|  चेयरमैन और दो डायरेक्टर्स को आरबीआई नियुक्त करेगी|  प्रस्ताव को मिली मंजूरी के मुताबिक, महेश कृष्णमूर्ति और अतुल भेड़ा यस बैंक के दो स्वतंत्र निदेशक होंगे|

संकट से जूझ रहे यस बैंक को पटरी पर लाने के लिए लागू हुए नए प्लान को लेकर नोटिफिकेशन जारी हो गया है|  इससे यस बैंक खाताधारकों के लिए राहत की बात ये होगी कि नोटिफिकेशन जारी होने के 3 दिन के अंदर मोरेटेरियम पीरियड  को खत्म कर दिया जाएगा|  इसका मतलब है कि नोटिफिकेशन जारी होने के 3 दिन के अंदर यस बैंक से सभी प्रतिबंध हटा लिया जाएगा, यानी 18 मार्च शाम 6 बजे के बाद ग्राहक अपने खाते से सामान्य लेन-देन कर सकेंगे|
भारतीय रिजर्व बैंक प्रस्ताव के मुताबिक, अगले 3 साल के लिए प्रशांत कुमार को यस बैंक का नया प्रबंध निदेशक (मैनेजिंग डायरेक्टर) और चीफ एक्जीक्युटिव ऑफिसर  नियुक्त किया गया है|  चेयरमैन और दो डायरेक्टर्स को आरबीआई नियुक्त करेगी|  प्रस्ताव को मिली मंजूरी के मुताबिक, महेश कृष्णमूर्ति और अतुल भेड़ा यस बैंक के दो स्वतंत्र निदेशक होंगे| भारतीय रिजर्व बैंक ने नकदी संकट से जूझ रहे यस बैंक पर रोक लगाते हुए उसके निदेशक मंडल को भंग कर दिया था इसके अलावा बैंक के जमाकर्ताओं के लिए 50,000 रुपये की निकासी की सीमा भी तय कर दी थी| कई तरह की पाबंदियां लगाने के बाद आरबीआई ने बयान जारी कर कहा था कि यस बैंक के निदेशक मंडल को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया गया है और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) प्रशांत कुमार को यस बैंक का प्रशासक नियुक्त किया गया है| यस बैंक को पटरी पर लाने के लिए प्राइवेट बैंक भी देंगे पैसा- वित्ती मंत्री निर्मला सीतारमण  ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि यस बैंक  में भारतीय स्टेट बैंक  49 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदेगी|  SBI 3 साल तक अपनी स्टेक को 26 फीसदी से कम नहीं कर सकेगी|  इसके अलावा प्राइवेट बैंक भी इसमें निवेश करेंगे|  प्राइवेट बैंकों के लिए भी लॉक इन पीरियड 3 साल तक का ही होगा, लेकिन उनके लिए स्टेक की लिमिट 75 फीसदी तक है|