वो शख्स जिसने किया हजारो को संक्रमित |

कोरोना से संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इससे संक्रमित लोगों की संख्या विश्व में बढ़कर 381,649 से ज्यादा हो गई है.  आप को बता दे दुनिया में Coronavirus से 16,558 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है . इटली और अमेरिका में भी Coronavirus  का संक्रमण जारी है .

वो शख्स जिसने किया हजारो को संक्रमित |

कोरोना से संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इससे संक्रमित लोगों की संख्या विश्व में बढ़कर 381,649 से ज्यादा हो गई है.  आप को बता दे दुनिया में Coronavirus से 16,558 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है .
इटली और अमेरिका में भी Coronavirus  का संक्रमण जारी है . चीन के बाद अब सबसे ज्यादा मौत के लिहाज से इटली सबसे ऊपर है.
इसके साथ ही आप को बता दे की दक्षिण कोरिया के एक ऐसे मरीज के बारे में पता चला  जिसने सबसे ज्यादा लोगों को Coronavirus  से संक्रमित किया  है।
एक खबर के मुताबिक दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस के ख़तरे के लिए एक चर्च को दोष दिया जा रहा है। एक ‘कल्ट’ चर्च, जो दक्षिण कोरियाई लोगों के गुस्से का शिकार बना है। दरसल पादरी समूह के एक 61 वर्षीय व्यक्ति जिसे ये संक्रमण था लेकिन समय पर शख्स में संक्रमण की पहचान नहीं हो पाई और वो आम लोगो के संपर्क में आता रहा इस दौरान इस शख्स के जरिए करीब 4800 लोगों में Coronavirus का संक्रमण फैला|  ,और लगभग 29 लोगों की जान इसके संपर्क में आने से जा चुकी है।
जिस वक्त इस शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया तो इसके बेड का नंबर 31 था, और उसे ‘पैशेंट नंबर- 31’ का नाम दिया गया है। मरीज नंबर 31 की लापरवाही के चलते सियोल मेट्रोपॉलिटन सरकार ने इतने सारे लोगों में संक्रमण फैलने और जान जाने के चलते व्यक्ति के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की शिकायत दर्ज कराई है।
स्थानीय प्रशासन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि 'मरीज 31' में संक्रमण से पहले दक्षिण कोरिया में Coronavirus  का संक्रमण कंट्रोल में था, लेकिन इस ब्यक्ति ने हजारो लोगों को संक्रमित दिया है।
  शिनचेओंजी की कुछ रीतियाँ भी इन सबके लिए जिम्मेदार बताई जा रही हैं।
दरसल ये चर्च ‘सीक्रेसी’ के नियमों का पालन करता है। चर्च में  फेस मास्क पर बैन लगा दिया गया था जबकि मास्क लगाने की सलाह डॉक्टरों ने दी है ताकि कोरोना वायरस के बचाव के लिए सावधानी अपनाई जा सके। इसके अलावा इस चर्च में एक जगह सबके साथ रह कर प्रेयर करने का रिवाज र है, जिसके लिए लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं। कोरोना वायरस के फ़ैलाने के आलोक में दुनिया भर के विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि ‘सोशल डिस्टन्सिंग’ का पालन किया जाए और लोग किसी भी गैदरिंग का हिस्सा न बनें।‘पेशेंट संख्या- 31’ को कोरोना वायरस का ‘सुपरस्प्रेडर’ कहा जा रहा है। इस चर्च के संस्थापक ली मैन ही को लोग दक्षिण कोरिया के एक महान राजा का वंशज मानते हैं,। बाइबल के सीक्रेट कोड्स को वही समझ और समझा सकते हैं, ऐसा वहा के लोगों का मानना है। 88 वर्षीय ली पर आरोप है कि वो और चर्च के सैकड़ों लोग स्वास्थ्य विभाग के संपर्क से भागते रहे, जिस कारण Coronavirus  तेज़ी से फैला। आरोप है कि चर्च के अधिकतर संक्रमित लोग छिप गए और उनसे कोई संपर्क नहीं हो पाया। आप को बता दे इस वक्त दक्षिण कोरिया में संक्रमितों की सख्या 9,037 से भी ज्यादा है