विरोध प्रदर्शनों के बीच शाहीन बाग में धारा 144 लागू | ZNDM

नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच शाहीन बाग में धारा 144 लागू कर दी गई है| दिल्ली पुलिस ने नोटिस जारी कर कहा है कि इस क्षेत्र में न इकट्ठे हों, न ही प्रदर्शन करें| इस आदेश को न मानने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी|

नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच शाहीन बाग में धारा 144 लागू कर दी गई है| दिल्ली पुलिस ने नोटिस जारी कर कहा है कि इस क्षेत्र में न इकट्ठे हों, न ही प्रदर्शन करें| इस आदेश को न मानने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी| शाहीन बाग में ढाई महीने से लगातार धरने पर महिलाएं बैठी हैं और नागरिकता कानून को हटाने की मांग कर रही है|
दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनस्थल के आसपास सुरक्षा व्यवस्था तेज कर दी है| प्रदर्शनस्थल के पास धीरे-धीरे बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया जा रहा है| पुलिस सब पर कड़ी नजर रख रही है. इसके अलावा प्रदर्शन स्थल की ओर आने वाली सड़कों पर भी निगरानी पुलिस रख रही है|
   क्या है धारा-144 और कब लगाई जाती है?
सीआरपीसी की धारा 144 शांति कायम करने के लिए उस स्थिति में लगाई जाती है जब किसी तरह के सुरक्षा संबंधित खतरे या दंगे की आशंका हो। धारा-144 जहां लगती है, उस इलाके में पांच या उससे ज्यादा आदमी एक साथ जमा नहीं हो सकते हैं। धारा लागू करने के लिए इलाके के जिलाधिकारी द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी किया जाता है। धारा 144 लागू होने के बाद इंटरनेट सेवाओं को भी आम पहुंच से ठप किया जा सकता है। यह धारा लागू होने के बाद उस इलाके में हथियारों के ले जाने पर भी पाबंदी होती ह|