वाराणसी में जिलाधिकारी ने कोरोना वायरस को देखते हुए जारी की सलाह | ZNDM NEWS

जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए सभी स्वीमिंग पूल 31 मार्च तक बंद करने और स्टेडियम में बड़े आयोजन नहीं करने का आदेश दिया है। संदिग्धों की पहचान और वायरस का संक्रमण रोकने के लिए होटल, मॉल, मल्टीप्लेक्स सहित 50 से ज्यादा लोगों की भीड़ वाले संस्थानों में थर्मल स्कैनर लगाए जाएंगे।

कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में लगातार जारी है और अब तक दुनिया में हजारो की जान बह जा चुकी है और भारत में 127 मामले सामने आ चुके है  

 इस बिच वाराणसी में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कल आयुक्त सभागार में जिले के सभी होटल, ट्रेवेल्स, क्लब संचालकों सहित सामाजिक संगठनों और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए  एडवाइजरी की जानकारी दी।

इस एडवाइजरी के अनुसार, सार्वजनिक शौचालयों में हर छह घंटे पर हाइपोक्लोराइड से पोछा लगाना होगा। साथ ही हर तीन घंटे पर दो प्रतिशत ब्लीचिंग सॉल्यूशन से सफाई कराई जाएगी। रिहायशी, सरकारी और व्यवसायिक भवनों की लिफ्ट की दीवार, हैंडल, इंटरकाम रिसीवर, मोबाइल और स्केलेटर रेलिंग सहित जहां भी लोगों का हाथ लगता है, उन सभी जगहों की प्रत्येक घंटे सफाई होगी।

जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए सभी स्वीमिंग पूल 31 मार्च तक बंद करने और स्टेडियम में बड़े आयोजन नहीं करने का आदेश दिया है। संदिग्धों की पहचान और वायरस का संक्रमण रोकने के लिए होटल, मॉल, मल्टीप्लेक्स सहित 50 से ज्यादा लोगों की भीड़ वाले संस्थानों में थर्मल स्कैनर लगाए जाएंगे।

अधिक भीड़ वाली जगहों के लिए सफाई के नए नियम लागू किए गए हैं। प्रत्येक छह घंटे में हाइपोक्लोराइड से पोछा लगाना होगा। साथ ही सात फीट तक ऊंची दीवार की हर छह घंटे पर सफाई करनी होगी। जिम और क्लबों को लगातार डिसइंफेक्शन कराने के भी निर्देश दिए गए हैं।

डीएम ने कहा कि बडे़ प्रतिष्ठान, रेस्टॉरेंट, मार्केट प्लेस, दुकानों की गद्दी आदि की नियमित सफाई करें। घरों में नमी सोखने वाली रद्दी चीजें, पुराने समाचार पत्र और जहां धूल इकट्ठा हो रही हो, उन वस्तुओं को हटा दें। वेंटिलेशन और धूप के आने की व्यवस्था करें।
होटल और रेस्टोरेंट सहित बाजार में खाद्य वस्तुएं बिक्री करने वालें ग्लब्स पहनकर खाद्य सामग्री परोसें। इन सभी जगहों पर सेनेटाइजर रखें और बाहर से आने वाले इसका उपयोग करें, यह भी सुनिश्चित करें।

 इसके साथ ही जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि जर्मनी, फ्रांस, स्पेन, इटली, ईरान, चीन और कोरिया से आने वाले पर्यटकों के नाम, पता व फोन नंबर रजिस्टर में दर्ज करें, ताकि उन्हें निगरानी में रखा जा सके। इन देशों के प्रत्येक पर्यटक को कोरेंटाइन सेंटर तक लाने के लिए क्षेत्रीय प्रबंधक रोडवेज और उनके इलाज के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया है।

शहर के सभी प्रतिष्ठानों के मालिकों को निर्देश दिए कि वह अधीनस्थ कर्मचारियों को कोरोना वायरस से बचाव की पूरी जानकारी दें। साथ ही किसी एक स्टाफ को नोडल बनाएं।