वाराणसी के डीएम कौशल राज शर्मा ने अचानक क्वॉरेंटाइन सेंटर पहुँचकर किया निरक्षण |

कोरोना के मार से बचने के लिए देश के केंद्र व सभी राज्य सरकारों ने कमर कस ली है।इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कम्युनिटी ट्रांसमिशन को रोकने के लिए सभी उचित कदम उठा रहे हैं और सख्ती के साथ उनका पालन करने के भीे निर्देश दिए हैं।जहाँ एक ओर उन्होंने सभी प्रदेशवासियों को रामनवमी की शुभकामनाएं देते हुए लोगों को घर में ही रहकर रामनवमी मनाने का आश्वासन दिया है।

कोरोना के मार से बचने के लिए देश के केंद्र व सभी राज्य सरकारों ने कमर कस ली है।इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कम्युनिटी ट्रांसमिशन को रोकने के लिए सभी उचित कदम उठा रहे हैं और सख्ती के साथ उनका पालन करने के भीे निर्देश दिए हैं।जहाँ एक ओर उन्होंने सभी प्रदेशवासियों को रामनवमी की शुभकामनाएं देते हुए लोगों को घर में ही रहकर रामनवमी मनाने का आश्वासन दिया है।वहीं इस बीच वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के भी सख्त तेवर सामने आ रहे हैं।पूरा शहर दंग रह गया जब हाल ही में उन्होंने एसएसपी प्रभाकर चौधरी के साथ वाराणसी के बाजारों में आम जनता के रूप में उतर कर निरक्षण किया और मुनाफाखोरी करने वाले दुकानदारों को धर दबोचा।इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री के निर्देश पर क्वॉरेंटाइन सेंटर में तब्दील हुए स्कूलों का भी निरक्षण किया।जी हाँ बाज़ारो के बाद अब वो क्वारंटाइन सेंटर के निरक्षण के लिए निकले है।बुधवार को DM रोहनिया स्थित जागरण पब्लिक स्कूल में बनाए क्वॉरेंटाइन सेंटर के औचक निरीक्षण के लिए पहुँचे ओर वहाँ की व्यवस्थाओं पर निगरानी रखी।

बता दें कि रोहनिया स्थित जागरण पब्लिक स्कूल में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में उत्तर प्रदेश और बिहार के लगभग 201 लोगों को ठहराया गया है।जिनकी जानकारी जिलाधिकारी ने रोहनिया प्रभारी से लेते हुए लोगों के दिक्कतों के बारे में भी जाना।इस मौके पर एसडीएम राजातालाब विक्रमादित्य मलिक ने भी व्यवस्थाओं की जानकारी दी। इसके साथ ही उप जिला अधिकारी ने बताया कि समय-समय पर हाइपो क्लोराइट सलूशन से 3 शिफ्ट में साफ सफाई,फॉगिंग आदि कर हाइजीन का पूरा ख्याल रखा जा रहा है और पानी की आपूर्ति एनडीआरएफ के द्वारा की जा रही है।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने अपने कर्तव्य को समझते हुए हर एक व्यक्ति से स्वयं मिलकर उनका हाल खबर लिया और जरूरतों की भी जानकारी ली।इस बीच इन 201 लोगों में मौजूद एक महिला को खासी की समस्या होने पर तुरंत डॉक्टरों द्वारा दवाइयां मुहैया करवाई।साथ ही महिला ओर उसके बच्चे को अपने हाथो से बिस्कुट,मास्क आदि जरूरी समान दिए।