वाराणसी जिलाधिकारी ने शुरू की वार्डों तक चिकित्सा पहुँचाने की मुहीम | ZNDM NEWS

कोरोना के बढ़ते जाल ने भारत में पीड़ितों के संख्या 5000 के पार कर दी है और 171 लोगों ने अपनी जान गवां दी है।वहीं उत्तर प्रदेश में भी अब तक 336 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से 3 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए पूरा देश सतर्कता बरतने में जुटा है।वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा व प्रशासन भी लॉक डाउन के दौरान लोगों को जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने की ओर हर मुमकिन प्रयास कर रहें हैं।

कोरोना के बढ़ते जाल ने भारत में पीड़ितों के संख्या 5000 के पार कर दी है और 171 लोगों ने अपनी जान गवां दी है।वहीं उत्तर प्रदेश में भी अब तक 336 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से 3 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए पूरा देश सतर्कता बरतने में जुटा है।वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा व प्रशासन भी लॉक डाउन के दौरान लोगों को जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने की ओर हर मुमकिन प्रयास कर रहें हैं।ताकि लॉक डाउन पीरियड में जो लोग घरों में फंसे हैं उन्हें किसी भी प्रकार की असहजता का सामना ना करना पड़े।उनकी कठिनाइयों को समझते हुए वाराणसी में कई नई सुविधाएं भी शुरू की गई है। इसी कड़ी में वाराणसी में मंगलवार को सचल वार्ड फ्लू क्लीनिक की सेवा का शुभारंभ किया गया।जी हां लॉक डाउन में कई ऐसे लोग भी परेशानियों का सामना कर रहे हैं जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित है लेकिन अस्पताल तक नहीं पहुंच पा रहे उन लोगों की सुविधा के लिए चलती वाहनों में वार्ड फ्लू क्लीनिक की सेवा शुरू की गई है।इन वाहनों में एक चिकित्सक,पैरामेडिकल स्टाफ, दवाइयां और मेडिकल इक्विपमेंट उपलब्ध होंगे।इस वार्ड फ्लू क्लिनिक का शुभारंभ मंगलवार को हुआ जिसे जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर सी.एम.ओ कार्यालय से रवाना किया।बता दे कि सचल वार्ड फ्लू क्लीनिक के अंतर्गत अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीजों को उनके वार्डों में ही पहुंच कर इलाज किया जाएगा।

इस अवसर पर जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि वाराणसी जनपद में ऐसे 45 वाहन रूपी वार्ड फ्लू क्लीनिक चलाया जाएगा। जिसके अंतर्गत विभिन्न वार्ड में सार्वजनिक स्थलों पर पहुँच कर सर्दी,जुखाम,बुखार,सांस की तकलीफ, हृदय रोग,टी.बी,किडनी रोग,कैंसर,डायबिटीज सहित अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीजों का उपचार किया जाएगा।