वाराणसी के DM ने कहा नहीं खुलेंगी कोई नई दुकानें | इन्हें मिली है छूट

गृहमंत्रालय द्वारा दुकानें खोले जाने के संबंध में जारी एडवाइजरी के बाद शनिवार को जनपद में उहापोह की स्थिति बनी रही। सुबह-सुबह आम जनमानस से लेकर दुकानदार दुकान खोलने के आदेश को स्पष्ट करने में जुटे रहे। गृहमंत्रालय के आदेश चैनलों-अखबारों में पढ़ने के बाद कई इलाकों में सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ी।

वाराणसी के DM ने कहा नहीं खुलेंगी कोई नई दुकानें |  इन्हें मिली है छूट

 

लोगो को लगने लगा की अब दुकान पहले की तरह खुले गई , इस को ले कर आम जनमानस रोडो पर निकलते दिखे , इस बात से बेपरवाह की कल ही जनपद पे कोरोना के मामले ने सूबे में चिंता का विषय बना हुआ है। 

जनपद में यही दुकानें केवल खुलेंगी–

फल, सब्जी, दूध और अनाज / गल्ला की होलसेल दुकान प्रतिदिन खुलेंगी। इनके खुलने का समय केवल पूर्वान्ह 10:00 बजे तक का होगा। आवश्यक वस्तुओं का विक्रय करने वाले रिटेल जैसे अनाज, गल्ला, किराना, जनरल स्टोर, दूध, सब्जी, फल, पोल्ट्री व अण्डा की दुकानें कृषि संबंधी बीज, संयंत्र, रसायन, उर्वरक की दुकानें पोल्ट्री फीड, पशु चारा की दुकानें प्रतिदिन पूर्वान्ह 10:00 बजे तक ही खुलेंगी।

होलसेल की दवा मण्डियॉ प्रतिदिन पूर्वान्ह 12.00 बजे तक खुलेंगी। दवाई की दुकानें, डॉक्टर क्लिनिक और सभी निजी अस्पताल, पैथोलॉजी लैब से जुड़े रिटेल एवं होलसेल की दुकानें प्रतिबंध से मुक्त रहेंगी। हालांकि सप्तसागर दवा मंडी को अगले तीन दिनों तक बन्द रखने के आदेश दिए गए है। तीन दिनों तक मंडी में सेनेटाइज किया जाएगा। यह निर्णय मढौली निवासी दवा व्यापारी को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद निर्णय लिया गया है।

आवश्यक वस्तुओं की होम डिलेवरी जैसे-दूध, रसोई गैस, राशन, फल, सब्जी प्रतिदिन सायं 6:00 बजे तक चल सकती हैं। होम डिलीवरी वाली दुकानें ग्राहक को सीधे अपने दुकान पर सामान नहीं बेचेंगे व शटर आधा डाउन रखेंगे। ट्रांसपोर्ट, लाजिस्टिक्स, कूरियर, वेयर हाउस, शीतगृह, खाद्य प्रसंस्करण से सम्बन्धित इकाईयॉ, आटा चक्की सायं 6:00 बजे तक प्रतिदिन खुल सकती हैं।

आगामी रमजान महीने के दृष्टिगत इफ्तार में प्रयुक्त होने वाली सामग्री यथा सेवइयां, खमीरी रोटी, बिस्किट, भुजिया, ब्रेड आदि तैयार करने वाली ब्रेकरी को इन सभी खाद्य पदार्थों को बनाने की अनुमति रहेंगी। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर नगर निगम सीमा के अन्तर्गत मछली मण्डी पर प्रतिबन्ध रहेगा जबकि ग्रामीण क्षेत्र में मछली मण्डी सोशल डिस्टेंस के साथ अनुमन्य होगी।

किसी भी दुकान/मण्डी में कोई भी ग्राहक एक- दूसरे से डेढ़ मीटर की दूरी पर केवल लाइन में खड़े होकर सामान खरीदेंगे, यदि ग्राहक इस दूरी पर नहीं रहते हैं तो ऐसी मंडियों या दुकानों को बन्द कर दिया जायेगा। रमजान में प्रयोग किए जाने वाले खाद्य सामग्री के निर्माण की छूट दी गई है। हॉटस्पॉट इलाकों में प्रशासन ने सामग्री रोजेदारों तक डिलेवरी बॉय द्वारा पहुचाने का निर्णय लिया है।