यूपी और बिहार में क्वारंटाइन कराने गई डॉक्टर व पुलिस टीम पर हमला |

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में लगी डॉक्टरों की टीम और पुलिस पर हमले कम होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। बुधवार को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद और बिहार के औरंगाबाद जिले में डाक्टर और पुलिस दोनों पर हमला कर लिया गया।

यूपी और बिहार में क्वारंटाइन कराने गई डॉक्टर व पुलिस टीम पर हमला |

 

दोनों ही जिलों में हुई घटना में कई लोगों को चोट आई है। उधर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दोषियों पर एनएसए लगाने का आदेश देने के साथ ही नुकसान हुई सम्पत्ति की भरपाई भी आरोपियों से कराने का आदेश  दिया है।

मुरादाबाद में कोरोना मरे युवक के परिचितों को क्वारंटाइन करने गई थी टीम  : 

कोरोना वायरस के संक्रमण के सरताज अली  की मौत हो गई थी। मंगलार को डॉक्टर और स्वास्थ्य विभाग की टीम सरताज से जुड़े लोगों को क्वारंटाइन करने के लिए हाजी नेब वाली मस्जिद के पास गई थी। तभी एकाएक स्वास्थ्य विभाग की टीम और पुलिस वालों पर कुछ लोगों ने पथराव कर दिया। स्थानीय लोगों ने एम्बुलेंस और एसएचओ की गाड़ी पर तोड़फोड़ भी की। इस हमले में डॉक्टर समेत पांच लोग घायल हो गए जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुरादाबाद के एसएसपी पाठक ने कहा कि इस घटना में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है। आरोपियो के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कुछ मेडिकल टीम के सदस्य चोटिल हुए हैं। यहां पर धारा-144, महामारी कानून और आपदा प्रबंधन कानून का उल्लंघन हुआ है। आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएस) के तहत कार्रवाई होगी।

बिहार के औरंगाबाद में डॉक्टरों और पुलिस पर हमला : 

बिहार के औरंगाबाद जिले के गोह थाना के अकौनी गांव में दिल्ली से किसी व्यक्ति के आने की सूचना पर डॉक्टरों टीम पहुंची थी। टीम के पहुंचते ही कुछ लोगों ने हमला कर दिया। इस हमले में डॉक्टर, ड्राइवर एवं एक अन्य कर्मी को चोट लग गई। ग्रामीणों ने गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की। घटना कि सूचना पर दलबल के साथ गांव पहुंचे एसडीपीओ और एसडीएम पर भी ग्रामीणों ने हमला बोल दिया। इस हमले में एसडीपीओ समेत पुलिस कर्मी भी घायल हो गए।  इससे पहले भी बिहार के मधुबनी, भागलपुर और कटिहार समेत राज्य के कई हिस्सों में डॉक्टरों या पुलिस टीम पर हमले की शिकायत हो चुकी है।