प्रदेश की 16 नदियों का पुनरुद्धार करेगी मनरेगा वाराणसी की नाद व वरुणा नदी शामिल

कोरोना वायरस की वजह से जनजीवन इस वक्त बिल्क़ुल ठहर सी गई है लॉकडाउन के कारण देश में सभी काम काज पूरी तरह से बंद पड़े है जिसकी वजह से उन मजदूरों के सामने बहुत बड़ी समस्या आ खड़ी हुई है जो रोज कमाते खाते है |

प्रदेश की 16 नदियों का पुनरुद्धार करेगी मनरेगा वाराणसी की नाद व वरुणा नदी शामिल

 

कह सकते है की लाकडाउन की वजह से सब पर काफी बुरा असर पड़ा है | इन सबके बीच वाराणसी के मजदूरों के लिए खुशखबरी है दरअसल ग्रामीण क्षेत्र में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण गारंटी योजना (मनरेगा) के अंतर्गत श्रमिकों को कार्य देने का फैसला किया गया है। दरअसल आने वाले  कुछ दिनों में बारिश को देखते हुए जल संरक्षण के कार्य अब सुरु कर दिए जाएंगे और इसी क्रम में सूबे के प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर मनरेगा के कार्य शुरू करने को कहा। इसमें 39 जिलों में प्रवाहित होने वाली बारिश पर आश्रित 16 नदियों के पुनरोद्धार का आदेश दिया गया है। इसमें प्रदेश की 16 नदियों के साथ ही वरुणा और नाद को शामिल किया गया है |

 

दरअसल प्रदेश सरकार को ग्रामीण विकास मंत्रालय ने आदेश दिया कि कंटेनमेंट क्षेत्र के बाहर के कार्यों को जल्द सुरु किया जाए। इस वक्त जिले में प्रवाहित नाद नदी में  सिल्ट  की सफाई का कार्य अब शुरू कर दिया गया है  । ये नदियां कई गांवों से होकर गुजरती हैं इससे पंजीकृत मनरेगा श्रमिकों को रोजगार का अवसर मिल रहा है। और ये मनरेगा के श्रमिकों के लिए काफी अच्छी बात है | ये काम  सुरु हो जाने से अब श्रमिकों को रोजगार मिल जाएगा |