शर्तो के साथ खुले बनारस की दुकाने

वाराणसी | आज सुबह 10 बजे से कई दिनों से बंद पड़े दुकानों के खुलने का सिलसिला चालु हो गया है | दरअसल आज से वाराणसी में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देश पर दुकानों और व्यापारिक और वाणिज्यिक गतिविधियों को चालू किया गया हैं जिसमे नगर निगम सीमा के अंतर्गत सभी आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की दुकानें जिन में दवाई, सामान्य घरेलू राशन, अनाज, गल्ला, दूध, मिल्क प्रोडक्ट, सब्जी, रसोई गैस, CNG, फल,अंडा, जनरल स्टोर, पशु चारा, पशु चिकित्सा, कृषि संबंधी सामान जैसे बीज, रसायन, आटा चक्की, आटा मिल, बेकरी में बनने वाले सभी सामान, सूखी खाद्य सामग्री शामिल हैं |

शर्तो के साथ खुले बनारस की दुकाने
शर्तो के साथ खुले बनारस की दुकाने

 

जो रविवार को छोड़ कर प्रतिदिन प्रातः 10 बजे से शाम 5 बजे तक खुल सकेंगी।बतादे काफी समय से लोगो द्वारा की गई मांग और जरूरतों के कारण मोबाइल फ़ोन बेचने और मरम्मत करने, बिजली के उपकरण बेचने और मरम्मत करने, हार्डवेयर सेनेटरी आइटम और प्लंबिंग के उपकरण बेचने और मरम्मत करने, बिल्डिंग मटेरियल, गाड़ी और वाहन मरम्मत, कंप्यूटर हार्डवेयर और मरम्मत करने, 5 कर्मचारियों तक की पेपर प्रिटिंग दुकानें, स्कूल की पुस्तक, स्टेशनरी की दुकानें  भी खोली जाएंगी |

इसके साथ ही चाय और पान की दुकानें भी एक शर्त ओर खोलने की अनुमति है यदि वे तम्बाकू, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, पान मसाला की बिक्री न करें तथा एक समय मे 5 व्यक्तियों से अधिक लोगों को अपनी दुकान पर एक साथ जमा ना होने दें और 2 गज का गोला या लाइन खींच कर सोशल डिस्टनसिंग मेन्टेन करवाएं। लेकिन इस दौरान कुछ चीजे अभी बंद है जैसे मॉल, होटल, रेस्टोरेंट, चाट, कचौरी, मिठाई, कॉफ़ी हाउस, फ़ास्ट फूड, पिज़्ज़ा, बर्गर आदि खाद्य पदार्थों तथा तम्बाकू, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, पान मसाला की दुकानें क्योकि ऐसी जगहों पर भीड़ काफी होती है । इसके साथ ही जरूरतों को देखते हुवे  केवल ग्रामीण क्षेत्रों में हाईवे और राज्य मार्ग सड़कों पर वाहनो और यात्रिओं के लिए ढाबे, रेस्टोरेंट खोलने अनुमन्य होंगे।
 दवाइयों की दुकाने भी 10 से 5 खोली जाएंगी|  दूध की दुकानें और रिटेल आउटलेट सुबह एक घंटा 7 से 8 बजे तक खोले जाएंगे |

न्यूज पेपर वितरण, मीडिया आफिस सभी समयावधि के प्रतिबंध से मुक्त होंगे। प्राइवेट अस्पताल, सरकारी अस्पताल, पैथोलॉजी लैब सभी 24 घंटे खुले रह सकते हैं और उनके अंदर शामिल फार्मेसी व दवाइयों की दुकान भी 24 घंटे खुली रह सकती हैं। इसके साथ ही शहर में शहरी व ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में शराब की सभी दुकानें व मॉडल शॉप प्रातः 10:00 बजे से 7:00 बजे तक खुलेंगी। परंतु इन दुकानों पर ग्राहकों को रोककर शराब पिलाना पूरी तरह से प्रतिबंधित होगा। सभी शराब के बार के खुलने पर प्रतिबंध रहेगा। शराब की दुकानों पर दुकानदारों को सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष रूप से कड़ाई से पालन करवाना होगा। सभी आवश्यक वस्तुओं की थोक आपूर्ति के लिए नगर निगम सीमा में सब्जी मंडी, विश्वेश्वर गंज गल्ला मंडी, सप्त सागर दवा मंडी की खुलने की व्यवस्था दिनांक 1 मई को निर्धारित की जा चुकी है। पहले से निर्धारित गल्ला मंडी विश्वेश्वर गंज और दवाई मंडी सप्त सागर के अलावा भी कोई गल्ला या दवाई मंडी हैं तो वो भी प्रातः 9 से दोपहर 3 बजे तक अधिकतम 50% दुकानें प्रतिदिन के प्रतिबंध के साथ खुल सकती हैं। न्यूनतम 50% दुकानों का रोस्टर उस मंडी की व्यापार एसोसिएशन स्वयं तय करेगी।

नगरीय क्षेत्रों में निर्माण केवल इन सीटू साइट पर ही अनुमन्य होगा और इसके लिए अपर जिलाधिकारी प्रशासन से केस टू केस बेसिस पर अनुमति प्राप्त करानी आवश्यक होगी। उपरोक्त किसी भी व्यवस्था के लिए अलग-अलग पास जारी नहीं किए जाएंगे। किसी भी व्यक्ति को बिना कारण बाहर जाने की अनुमति नहीं है  कारण हो तभी घर से बाहर निकलने की अनुमति है लेकिन अपने साथ अपने व्यापार संबंधी अथवा कार्य संबंधी पर्याप्त सबूत तथा फोटो आईडी कार्ड साथ रखना होगा । माल वाहक वाहनों के मालिकों को भी वाहन के प्रयोग संबंधी सारे सबूत अपने साथ रखने होंगे ताकि पूछताछ के दौरान उसे चेकिंग करने वाले अधिकारियों को पेश किया जा सके।  इसके साथ ही पूरे जनपद में खुले में थूकना पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया  है। साथ ही लाकडाउन के दौरान जो निर्देश बनाए गए है जो नियम है यदि कोई ऐसा नहीं करता पाएगा तो उसके विरुद्ध FIR दर्ज करके गंभीर कार्रवाई की जाएगी। सभी को अपने मुँह को ढक कर बाहर निकलना होगा बेवजह बाहर घूमना प्रतिबन्ध है इसके साथ ही बच्चो और बुजुर्गों को बाहर निकलने की अनुमति नहीं है | क्यों की इनको कोरोना संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है |