सरकार की महिला दिवस पर अनोखी पहल | महिला दिवस | ZNDM NEWS

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की पहल पर 8 मार्च को देशभर के स्कूलों और कॉलेजों में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस   मनाया जाएगा|  सरकार ने इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में 1 से 7 मार्च तक थीम आधारित विशेष अभियान शुरू किया है| केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने कहा, "सरकार ने छात्राओं की शिक्षा के लिए कई महत्वपूर्ण पहल की है|

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की पहल पर 8 मार्च को देशभर के स्कूलों और कॉलेजों में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस   मनाया जाएगा|  सरकार ने इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में 1 से 7 मार्च तक थीम आधारित विशेष अभियान शुरू किया है| केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने कहा, "सरकार ने छात्राओं की शिक्षा के लिए कई महत्वपूर्ण पहल की है| यह 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' की योजना की सफलता की कई वजहों में से एक है, जिससे शिक्षा के सभी स्तरों पर लड़कियों का कुल नामांकन अनुपात अब लड़कों की तुलना में अधिक है." मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि शिक्षा के माध्यम से छात्राओं और महिलाओं के सशक्तीकरण की गति को आगे बढ़ाने के लिए मंत्रालय द्वारा उत्सव पूरे वर्ष जारी रहेगा|
उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग गोलमेज वार्ता का आयोजन करेगा और कई अन्य गतिविधियों के बीच देशभर के लगभग 40 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में विभिन्न विषयों पर महिला सशक्तीकरण के कई अन्य कार्यक्रम शुरू करेगा| उन्होंने यह भी बताया कि योग ओलंपियाड की तर्ज पर स्कूल स्तर पर लड़कियों के लिए एक सेल्फ डिफेंस ओलंपियाड का आयोजन किया जाएगा. लड़कियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकारी स्कूलों की छठी से बारहवीं कक्षा की लड़कियों को आत्मरक्षा प्रशिक्षण दिया जाता है|
कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में संस्कृति और थिएटर क्लबों को महिलाओं के मुद्दों पर नुक्कड़ नाटक, माइम शो आदि आयोजित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा|  निशंक ने इस बात पर भी जोर दिया कि सभी कॉलेज और विश्वविद्यालय अपने-अपने परिसरों में विभिन्न स्थानों पर महिला हेल्पलाइन नंबरों को प्रमुखता से प्रदर्शित करेंगे|
उच्च शिक्षा में एकलौती बेटी को बढ़ावा देने के लिए वर्ष 2014-15 में सामाजिक विज्ञान में स्वामी विवेकानंद सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप फॉर रिसर्च शुरू की गई थी। इसी के साथ उन्होंने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में लड़कियों की सहायता के लिए प्रगति छात्रवृत्ति योजना को लागू कर रही है।