कैसा रहा 2020 में 90 के दशक के रामानंद सागर की रामायण का री-टेलीकास्ट | Ramayan Re telecast |

23 मार्च से कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए मोदी सरकार ने पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया था| शुरू में ऐसी परिस्थिति में लोगों के लिए घर में समय काटना मुश्किल साबित हो रहा था| जिसके बाद दर्शक रामायण और महाभारत के दुबारा टीवी पर टेलीकास्ट करने की डिमांड करने लगे|

 

इस बीच बड़ी खबर सामने आई कि केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बड़ा ऐलान करते हुए बताया है कि 28 मार्च 2020 से रामानंद सागर के टीवी सीरियल "रामायण" का पहला एपिसोड सुबह 9.00 बजे और दूसरा एपिसोड रात 9.00 बजे दूरदर्शन पर दोबारा प्रसारण प्रसारण किया जाएगा |

25 जनवरी सन 1987 को दूरदर्शन पर रामायण का टेलीकास्ट शुरू हुआ था |रामानंद सागर की यह रामायण कई मायने में ऐतिहासिक थी| रामायण के शो का हर किरदार अमर हो गया था| उस दौर में रामायण का प्रसारण होते ही लोग टीवी से चिपक जाते थे, कहीं रामायण का प्रसारण दिख जाता था तो ट्रेनें भी स्टेशन पर रुक जाया करती थी|रामायण को ले कर उस दौर में ऐसे कई किस्से आम थे| रामायण की लोकप्रियता ऐसी कलाकारों को लोग भगवान समझते थे | उस दौर में रामायण टीवी पर आने वाला पहला मेगा सीरियल था| उस वक्त दूरदर्शन भारत में चलने वाला एकमात्र टीवी चैनल था| लोगों ने इस टीवी शो को इतना प्यार दिया था कि इसके बाद कई बार रामायण बनाई गई, लेकिन लोगों को वैसा अनुभव कभी नहीं हुआ जो रामानंद सागर की रामायण को देख होता था |

आजकल सैकड़ों टीवी चैनल के बाद दुनिया इंटरनेट टीवी और ओटीटी प्‍लेटफॉर्म की दीवानी है| लेकिन लॉकडाउन के चलते सोशल मीडिया पर रामानंद सागर की रामायण और बीआर चोपड़ा की महाभारत को फिर से दिखाने की मांग की गयी थी, जिसे पूरा करते हुए रामायण का प्रसारण दोबारा शुरू किया गया था| लॉकडाउन के बीच पॉपुलर सीरियल रामायण के रेटेलीकास्ट को दर्शकों का बहुत प्यार भी मिल रहा है। टीआरपी के मामले में रामायण ने कई रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं, लेकिन लेकिन 28 मार्च से शुरू रामायण के आखरी एपिसोड का टेलीकास्ट शनिवार को किया गया| 17 अप्रैल वाले एपिसोड में राम ने रावण का वध कर दिया है और सीता को लंका से मुक्त करा लिया है। अब रविवार से इसकी जगह "उत्तर रामायण" लव कुश के साथ रामायण की कहानी को दिखाया जाएगा।

कैसा रहा 2020 में 90 के दाशक का रामायण 90 के दाशक के रामायण के दोबारा प्रसारण को 2020 में भी अपार प्यार मिला| प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) ने ट्वीट कर बताया था कि बार्क की रेटिंग में रामायण के रिपीट शो ने बाजी मारी है| बार्क के अनुसार, दूरदर्शन पर रामायण के री-टेलीकास्ट ने हिंदी GEC (जनरल एंटरटेनमेंट चैनल) शो कैटिगरी में 2015 के बाद से अभी तक की हाईएस्ट रेटिंग पाई है| जीईसी शो और BARC की रिपोर्ट्स के मुताबिक रामायण ने 2015 बाद से अभी तक की सबसे अधिकतम रेटिंग पाई है। रिटेलीकास्ट के पहले दिन शनिवार को 34 मिलियन लोगों ने दूरदर्शन पर रामायण देखी थी| लगातार दूरदर्शन पर रामायण देखने वाले दर्शकों की संख्या भरी में वृद्धि हुई थी। ऐसे में साफ है कि रामायण की वजह से दूरदर्शन ने भी एक नया रिकॉर्ड बना दिया है।

आपको बता दे, रामानंद सागर की रामायण ने पहले भी रिकॉर्ड बनाए थे| 1987 में रामायड टीवी सीरीज को 82% व्यूअरशिप मिल थी| ये किसी भी टीवी सीरीज के लिए रिकॉर्ड है कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते देशभर में लॉकडाउन 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया हैl लॉकडाउन में लोगों को घरों में रहने के लिए प्रेरित करने के लिए कई पुराने शो टीवी भी फिर से प्रसारित किए जा रहे हैंl इसमें दूरदर्शन के रामायण, महाभारत और शक्तिमान सहित कई पुराने सीरियल शामिल हैl तो वही कई दूसरे टीवी चैनलों पर भी पौराणिक कथाएँ दिखाई जाए रहीं हैं |