पद्मश्री प्रदीप कुमार बनर्जी ने दुनिया को कहा अलविदा | पीके बनर्जी की मौत | ZNDM NEWS

भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान व पद्मश्री प्रदीप कुमार बनर्जी लंबे अरसे से सीने के इंफेक्शन से जूझ रहे थे जिनका शुक्रवार दोपहर कोलकाता में निधन हो गया है।बता दें कि बनर्जी लंबे समय से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रहे थे और पिछले कई दिनों से कोलकाता के मेडिका सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती थे। जिन्हें विगत दिनों फुल सपोर्ट वेंटिलेटर पर रखा गया था

भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान व पद्मश्री प्रदीप कुमार बनर्जी लंबे अरसे से सीने के इंफेक्शन से जूझ रहे थे जिनका शुक्रवार दोपहर कोलकाता में निधन हो गया है।बता दें कि बनर्जी लंबे समय से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रहे थे और पिछले कई दिनों से कोलकाता के मेडिका सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती थे। जिन्हें विगत दिनों फुल सपोर्ट वेंटिलेटर पर रखा गया था लेकिन आज डॉक्टरों की पूरी कोशिश के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका। बनर्जी काजल  23 जून 1936 में  पश्चिम बंगाल जलपाईगुड़ी  में हुआ था और आज 83 साल में अब इस सफर को विराम दे दिया है। बताते चलें कि भारत फुटबॉल टीम के गौरव का विषय रहे पी.के बनर्जी उन महान खिलाड़ियों की सूची में आते हैं जिन्हें 1961 में अर्जुन पुरस्कार 1990 में पद्मश्री से नवाजा गया इसके साथ ही 1962 में एशियाई खेलों में गोल्ड मेडलिस्ट टीम के सदस्य रहे इनमें सबसे खास बात यह है कि भारत में अर्जुन पुरस्कार की शुरुआत 1961 में हुई थी और पहली बार भारतीय फुटबॉल के धुरंधर रहे बनर्जी को ही पहली बार इस पुरस्कार से नवाजा गया था। अपने फुटबॉल के करियर में उन्होंने 85 मैच खेलें जिनमे 45 फीफा मैच शामिल है। इसके साथ ही फुटबॉल के लिए उनकी सेवाओं के संदर्भ में फीफा ने 2004 में उन्हें सर्वोच्च सम्मान - FIFA ORDER OF MERIT से भी सम्मानित किया।