आज से देश भर के सभी राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल टैक्स की वसूली शुरू

कोरोना लॉकडाउन के बीच भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने 20 अप्रैल से राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल टैक्स की वसूली शुरू करने के निर्देश दिए हैं| राजधानी लखनऊ सहित देश भर के सभी टोल प्लाजा पर 20 अप्रैल की मध्य रात्रि से टोल टैक्स वसूला जा रहा है। दिल्ली से सटे गुरुग्राम में के टोल प्लाजा पर सोमवार सुबह से टोल वसूली जारी है।

आज से देश भर के सभी राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल टैक्स की वसूली शुरू

 

एनएचएआई ने सभी टोल कंपनियों को टोल प्लाजा चालू करने के निर्देश दिये है। इसके बाद टोल कंपनियों ने टोल प्लाजा पर टैक्स वसूलने के लिए आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी है।  आपको बता दें , राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान भी आवश्यक वस्तुओं की ढुलाई में आसानी हो  इसके लिए सरकार ने लॉकडाउन के दौरान 25 मार्च से टोल टैक्स की वसूली अस्थाई तौर पर रोक दी थी |

एनएचएआई के परियोजना निदेशक एनएन गिरि ने बताया कि 20 अप्रैल को 00:01 बजे से टोल प्लाजा पर टैक्स वसूली शुरू कर दी जाएगी। टैक्स वसूली के दौरान उपभोक्ताओ को फास्ट टैग व ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। केवल कैश लाइनों में ही कैश लिया जाएगा। इस दौरान सभी कर्मचारियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का निर्देश दिया गया है।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने एनएचएआई को लिखे पत्र में कहा है, 'केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा सभी ट्रकों और अन्य मालवाहक वाहनों को राज्य के भीतर और राज्यों में आवागमन के लिए जो छूट दी गयी थी, उसी संबंध में एनएचएआई को गृह मंत्रालय के आदेश का पालन सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कार्रवाई करनी चाहिए और टोल टैक्स की वसूली 20 अप्रैल, 2020 से की जानी चाहिए।'

राजमार्ग बनाने वाली कंपनी आईआरबी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपर्स के एक प्रवक्ता ने कहा, 'टोल परिचालन फिर से शुरू करने के लिए नोडल एजेंसियों के निर्देशों से हम खुश हैं। यह इस क्षेत्र के लिए एक सकारात्मक संकेत है, और इससे लगता है कि हम चरणबद्ध ढ़ग से सामान्य स्थिति की बहाली की ओर बढ़ रहे हैं।' आईआरबी इंफ्रा की एसपीवी परियोजनाएं पूरे देश में 50 टोल प्लाजा का संचालन करती करती हैं।

हालांकि, परिवहन उद्योग से जुड़े ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) ने सरकार के इस कदम का विरोध करते हुए कहा है कि यह बहुत ही गलत है, सरकार चाहती है कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति अबाध जारी रहे, और हमारा समुदाय तमाम बाधाओं के बावजूद ऐसा कर रहा है। बता दें कि एआईएमटीसी के तहत करीब 95 लाख ट्रक और परिवहन प्रतिष्ठान आते हैं।

वही अब जानकारी मिल रही है कि  टोल टैक्स की दरों में वृद्धि की गयी है | वैश्विक महामारी कोरोना से हर वर्ग परेशान है। वहीं दूसरी तरफ एनएचएआइ ने टोल टैक्स बढ़ाकर कारोबारियों की चिंता बढ़ा दी है| सोमवार से दिल्ली-गुरुग्राम एक्सप्रेस-वे टोल प्लाजा को चालू करने के साथ ही बढ़ी हुई दर के हिसाब से टोल टैक्स की वसूली की जा रही है। लॉकडाउन के दौरान सामान ढोने वाले वाहनों यानी गुड्स से संबंधित ट्रकों व अन्य वाहनों को चलाने की छूट दी गई है।

यह भी निर्देश दिया है कि बढ़ी हुई दर के हिसाब से टोल टैक्स की वसूली की जाए। कारों के लिए टोल टैक्स में बढ़ोत्तरी नहीं की गई है। लाइट कॉमर्शियल व्हीकल के लिए टोल दर में पांच रुपये और मल्टीएक्सेल व्हील यानी बस, ट्रक, ट्राले, डंपर आदि के लिए टोल टैक्स में बढ़ोत्तरी की गयी है |

गुरुग्राम  एनएचएआइ निदेशक एके शर्मा के मुताबिक, टोल टैक्स में बढ़ोत्तरी करने का निर्णय लॉकडाउन से पहले ही लिया जा चुका था। एक अप्रैल से ही बढ़ी दरे लागू किया जाना था लेकिन लॉकडाउन में  टोल प्लाजा बंद होने के कारण ये बढ़ोत्तरी नहीं हो पायी थी।