कई हफ्तों से लापता युवक, अब तक पता नहीं लगा पाई लंका पुलिस ,परिजनों ने दी आत्मदाह की धमकी

वाराणासी का बहुचर्चित लंका थाना क्षेत्र से गायब मिर्जापुर जनपद के अदलहाट थाना क्षेत्र के इब्राहिमपुर निवासी मोबाइल ब्यवसाई का पता लगाने में वाराणासी पुलिस अब तक नाकामयाब रही जिस वजह से परिजनों को बार बार थाने का चक्कर लगा रही है ।

कई हफ्तों से लापता युवक, अब तक पता नहीं लगा पाई लंका पुलिस ,परिजनों ने दी आत्मदाह की धमकी

आज इसी क्रम में ब्यथित होकर पिता ने पुलिस महानिदेशक वाराणासी जोन से मुलाक़ात की परिवारजनों ने कहा कि पूर्व भी एडीजी से आपसे हम लोगों ने मिलकर प्रार्थना पत्र दिया मगर काफी लंबे समय बीतने के बाद ही कोई कार्यवाही नहीं हुई यदि आज मेरे शिकायतों को सुनकर कार्यवाही कुछ नहीं होती है तो हम यही आत्मदाह कर लेंगे साथ ही परिजनों ने सीओ,थाना प्रभारी व चौकी इंचार्ज की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है और कहा है कि अगर कोई अनहोनी होती है तो इसकी जिम्मेदारी इन तीनों लोगों की होगी। दरअसल परिजनों काआरोप है कि अपहरण की घटना को पुलिस ने दबाव बनाकर गुमशुदगी लिखवाया लेकिन खुद मामला सभाल नहीं पाए और अभी क्राइम विभाग को फाइल सौपने से कतरा रही है ।

आपको बता दें कि मामला ये है की अदलहाट थाना क्षेत्र के इब्राहिमपुर गांव निवासी मुकेश मौर्या पुत्र कृष्णानंद मौर्य 17 मार्च को मोबाइल व संबंधित सामान के खरीद-फरोख्त के लिए नित्य की भांति वह वाराणसी मंडी गया हुआ था और कुछ सामान व ट्रांसपोर्ट से बुक कराने के बाद देर शाम अपनी पल्सर मोटरसाइकिल से कुछ सामान लेकर घर के लिए वापस चला , किंतु घर नहीं पहुंचा लौटा।पिता कृष्णानंद उर्फ़ महंगू ने वाराणसी के लंका थाने में अपने पुत्र के अपहरण की एफआईआर दर्ज कराने पहुचे लेकिन लंका थाना प्रभारी भरत भूषण तिवारी ने जबरन परिजनों पर दबाव बनाकर गुमसुदगी दर्ज कराया।परीजन लगातार थाने व सीओ के ऑफिस का चक्कर लगाते लगाते थक गये लेकिन पुलिस परिजनों को गुमराह करती रही है।