मेघालय में सीएए को ले कर झड़प में गई एक की जान शहर में कर्फ्यू | सीएए एनआरसी एनपीआर | ZNDM NEWS |

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन के साथ-साथ अब समर्थन में प्रदर्शन का दौर भी शुरू हो गया है। ताजा मामला सामने आया है मेघालय से जहां खासी छात्र संघ (केएसयू) सदस्यों और गैर-आदिवासियों के बीच नागरिकता संशोधन कानून को लेकर झड़प हुई। झड़प के बाद मेघालय पुलिस ने शिलांग एग्लोमरेशन और आसपास के क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है और एहतियातन राज्य के छह जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन के साथ-साथ अब समर्थन में प्रदर्शन का दौर भी शुरू हो गया है। ताजा मामला सामने आया है मेघालय से जहां खासी छात्र संघ (केएसयू) सदस्यों और गैर-आदिवासियों के बीच नागरिकता संशोधन कानून को लेकर झड़प हुई।
झड़प के बाद मेघालय पुलिस ने शिलांग एग्लोमरेशन और आसपास के क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है और एहतियातन राज्य के छह जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं। पुलिस के मुताबिक मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स जिले में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और इनर लाइन परमिट (आईएलपी) पर एक बैठक के दौरान केएसयू सदस्यों और गैर आदिवासियिों के बीच झड़पों में एक व्यक्ति की मौत हो गई जिसके बाद छह जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई।
अधिकारियों ने बताया कि राज्य के छह जिलों पूर्वी जयंतिया हिल्स, पश्चिम जयंतिया हिल्स, पूर्वी खासी हिल्स, री भोई, पश्चिमी खासी हिल्स और दक्षिण पश्चिम खासी हिल्स में शुक्रवार रात से 48 घंटों के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई।
एक आधिकारिक आदेश में बताया गया कि शिलांग और आसपास के इलाकों में 28 फरवरी को रात दस बजे से 29 फरवरी को सुबह आठ बजे तक कर्फ्यू लगाया गया है।
अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि सीएए विरोधी और आईएलपी के समर्थन में हुई बैठक के दौरान खासी स्टूडेंट्स यूनियन के सदस्यों और गैर आदिवासियों के बीच झड़प हो गई। यह बैठक शुक्रवार को जिले के इचामति इलाके में हुई थी।
बैठक के दौरान केएसयू के सदस्यों के किसी बात पर अचानक गैर-आदिवासी लोगों के बीच झड़प शुरू हो गईं। इस दौरान केएसयू के एक सदस्य और एक पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गए,।उन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां केएसयू के सदस्य लुरशाई हाइनेविता ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। अपने साथी की मौत के बाद केएसयू के सदस्यों ने इस झड़प को उग्र रूप दे दिया। जिसे देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया है।
इस बीच, मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ने मामले को लेकर एक उच्च-स्तरीय बैठक की। संगमा ने बताया कि मैंने इस मुद्दे पर एक उच्च-स्तरीय बैठक की है। बैठक में राज्य के गृह मंत्री, गृह सचिव, डीजीपी और अन्य अधिकारी उपस्थित थे। हमने अब तक एक रात कर्फ्यू लगाया है। हम आगे की स्थिति का आकलन करेंगे इसके बाद कर्फ्यू हटाने और इंटरनेट निलंबन को बहाल करने पर निर्णय लेंगे। हमने क्षेत्र में पुलिस अधिकारियों को भी तैनात किया है