महामारी के बीच बरबाद हो रही है ऑटो कंपनी

वही शोरूम बंद होने के चलते कोई भी वाहन अभी तक नहीं बिकी है , शुरुवाती आकड़ो की माने तो 22 मार्च के बाद से टाटा की एक भी कार मार्किट में नहीं बिकी वही , रतन टाटा ने देश | Auto Industry at big Loss | Ratan Tata | Anand Mahindra |

महामारी के बीच बरबाद हो रही है ऑटो कंपनी
Indian Auto Industry facing toughest time

 

22 मार्च के बाद से लॉकडाउन के चलते ताला बंदी होने से हर कंपनी को नुकसान हो रहा है , देश की बड़ी ऑटो कंपनी में काम बंद है , वही शोरूम बंद होने के चलते कोई भी वाहन अभी तक नहीं बिकी है , शुरुवाती आकड़ो की माने तो 22 मार्च के बाद से टाटा की एक भी कार मार्किट में नहीं बिकी वही , रतन टाटा ने देश में चल रहे कोरोना वायरस महामारी के रोकथाम के लिए PM केयर फण्ड में करोड़ो दिए।

वही हालत इस टाइम महिंद्रा कंपनी की भी है , ऑटो कंपनी महिंद्रा के मालिक आनंद महिंद्रा ने कहा लॉकडाउन को और खिंचना इकोनॉमी के लिए घातक साबित हो सकता है , उन्होंने आगए ये भी कहा लॉकडाउन ने लाखो लोगो की जान बचाई है , पर अब लॉकडाउन को हल नहीं मानना चाहिए। इकॉनमी को पटरी पे लाने के लिए सरकार को सही क़दम उठाना चाहिए। साथ ही उन्होंने ये भी कहा की सरकार को टेस्टिंग और अधिक करना होगा जिससे कोरोना वायरस के चपेट में आये लोगो का इलाज जल्द हो शके। कोरोना वायरस में ये बात देखी गई है की सरकार टेस्टिंग के मामले में और देशो से बहुत पीछे काम कर रही है अभी तक भारत में 15 लाख के आस पास ही टेस्टिंग हुई है। 130 करोड़ की जनसंख्या वाले देश में ये टेस्टिंग बहुत कम है।