लॉकडाउन में भारत में फंसे 41 पाकिस्तानी लौटे अपने मुल्क, भारत कर रहा है पूरी मदद |

दुनियाभर में कोरोना वायरस संकट के बीच कई देशों में अलग-अलग देशों के लोग फंसे हुए हैं । भारत में कई देशों के नागरिक हैं, जो स्‍वदेश जाना चाहते हैं। भारत में कोरोना वायरस की वजह से लागू किए गए लॉकडाउन में फंसे 40 से ज्यादा पाकिस्तानी बृहस्पतिवार को बाघा सीमा के जरिए वतन लौट गए।

लॉकडाउन में भारत में फंसे  41 पाकिस्तानी लौटे अपने मुल्क, भारत कर रहा है पूरी मदद |

जो लोग वापस लौटे हैं, उनमें मुस्लिम, सिख और हिंदू शामिल हैं। उनकी यात्रा का मकसद धार्मिक कार्यक्रम में शिरकत करना और रिश्तेदारों से मिलना था।

लॉकडाउन में फंसे पाकिस्‍तानी, मुल्क वापसी में इंडिया करेगा मदद |

विदेश मंत्रालय इन पाकिस्‍तानी नागरिकों को उनके देश भेजने की कोशिश में जुटा है। बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ लोगों को वाघा बॉर्डर के जरिये भी पाकिस्‍तान भेजा जा सकता है।भारत अपने यहां फंसे पाकिस्तान नागरिकों के उनके देश वापस लौटने की व्यवस्था कर रहा है।

विदेश मंत्रालय कई विदेशी मिशनों को भारत में फंसे उनके नागरिकों को वापस निकालने में मदद दे रहा है। इसी क्रम में पाकिस्‍तानी नागरिकों को भी वापस उनके देश भेजने की व्‍यवस्‍था की जा रही है।

वाघा-अटारी बॉर्डर से जाएंगे पाक नागर‍िक

इनमें से 41 लोगों को गुरुवार को वाघा-अटारी बॉर्डर के जरिये उनके देश भेजा गया, जिसके जरिये पिछले महीने भी 5 पाकिस्‍तानी नागरिक अपने वतन लौटे थे। रिपोर्ट्स के अनुसार, ये लोग दिल्‍ली, हरियाणा, पंजाब, उत्‍तर प्रदेश में फंसे थे और उनकी पाकिस्‍तान वापसी सुनिश्चित करने को लेकर विभिन्‍न राज्‍यों को विदेश मंत्रालय की ओर से एक पत्र भी लिखा गया था।

अंतरराष्‍ट्रीय नियमों के अनुसार होगी स्‍क्रीनिंग 

हालांकि इस संबंध में विदेश मंत्रालय की ओर से यह भी स्‍पष्‍ट किया गय है कि पाकिस्‍तान लौटने वाले सभी लोगों की अंतरराष्‍ट्रीय नियमों के अनुसार स्‍क्रीनिंग होगी और केवल ऐसे लोगों को ही घर वापसी की अनुमति होगी, जिनमें कोरोना वायरस से संक्रमित होने के लक्षण नहीं होंगे। यहां उल्‍लेखनीय है कि पाकिस्‍तान में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 6 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।