काशी में लॉकडाउन के बाद पसरा सन्‍नाटा | वाराणसी समाचार

इस वक्त वाराणसी में लॉकडाउन घोषित होने के बाद लोगों की दैनिक दिनचर्या पर काफी ख़राब असर दिखा।अपने निरालेपन व अल्हड़पन के लिए विश्वविख्यात काशी को नजर सी लग गई है | इस वक्त मंदिरों से लेकर मठों और गंगा घाटों पर काफी सन्‍नाटा पसरा है।सुबह की गंगा आरति, घाटों पर बच्चो का शोर, बाबा विश्वनाथ के दर्शन के लिए लगने वाली क़तर कही गुम सी गई है।

इस वक्त वाराणसी में लॉकडाउन घोषित होने के बाद लोगों की दैनिक दिनचर्या पर काफी ख़राब असर दिखा।अपने निरालेपन व अल्हड़पन के लिए विश्वविख्यात काशी को नजर सी लग गई है | इस वक्त मंदिरों से लेकर मठों और गंगा घाटों पर काफी सन्‍नाटा पसरा है।सुबह की गंगा आरति, घाटों पर बच्चो का शोर, बाबा विश्वनाथ के दर्शन के लिए लगने वाली क़तर कही गुम सी गई है। ट्रेन, बस सहित यातायात के साधनों पर पाबंदी लग चुकी है |
एक ओर कैंट स्टेशन तक जाने के लिए कोई भी वाहन न मिलने से श्रद्धालुओं का हुजूम परेशान है कि आखिर अपने घरों को वापस कैसे लौटे । दूसरी ओर नईसड़क, गोदौलिया ,चौक की गलियों, बुलानाला, जैसे पुराने काशी के इलाकों में पूरी तरह सन्नाटा पसरा हुआ है। कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते असर को देखते हुए लॉकडाउन की घोषणा के आनन-फानन वाराणसी के सभी बार्डर सील कर दिए गए। वाहनों के आवागमन पर रोक लगा दी गई। लॉकडाउन के मद्देनजर पूरे जनपद में धारा 144 का कड़ाई से पालन कराने का आदेश दिया। लॉकडाउन की अवधि के दौरान कोई भी नागरिक बिना वजह सड़कों पर नहीं घूमेगा। कोई इस दौरान कोई ऐसा करते पाया गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।और छह माह तक की जेल भी हो सकती है।

चाय-पान और गुटखा की दुकानों पर भी प्रतिबंध लागू रहेगा। सरकारी कर्मचारी, स्वास्थ्य और मीडिया से जुड़े लोगों को ही प्रतिबंध से छूट दी गई है। जिलाधिकारी ने बताया कि रेल, बस की सुविधाएं बंद हो चुकी हैं। आटो-रिक्शा व अन्य पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर रोक लगा दी गई है। नागरिकों को आवश्यक वस्तुएं लेने के लिए निकलने की इजाजत होगी। दूध-सब्जी, अनाज लेने के बाद उन्हें तत्काल घर जाना होगा। राशन, दवा की दुकानों पर भीड़ लगाने की इजाजत नहीं होगी। इस अवधि में किसी भी तरह के समारोह पर प्रतिबंध लागू रहेगा। सार्वजनिक स्थानों पर पांच से अधिक लोगों का जुटना निषेधाज्ञा का उल्लंघन माना जाएगा। जिलाधिकारी ने जनता से अपील की है कि खुद की सुरक्षा के लिए लॉकडाउन में सहयोग करें। इन दुकानों को खोलने की है अनुमति अनाज, गल्ला, किराना, जनरल स्टोर, दूध, सब्जी, फल, दवा, पैथालॉजी लैब, रसोई गैस, पेट्रोल पंप, सीएनजी स्टेशन, ट्रासपोर्ट, लॉजिस्टिक्स, कूरियर, वेयर हाउस, कोल्ड स्टोरेज। इनसे संबंधित रिटेल और होलसेल की दुकानें/प्रतिष्ठान खोलने की अनुमति है।