काशी के महाश्मशान पर खेली गई चिता भस्म की होली |

भूत भावन महादेव ने काशी की जनता को रंगभरी पर आशीर्वाद दिया। आप को बता दे आज सुबह भोलेनाथ भक्त  महाश्मशान पहुंच गए।भक्तो ने महाश्मशान पर चिता भस्म की होली खेली गई ।

भूत भावन महादेव ने काशी की जनता को रंगभरी पर आशीर्वाद दिया। आप को बता दे आज सुबह भोलेनाथ भक्त  महाश्मशान पहुंच गए।भक्तो ने महाश्मशान पर चिता भस्म की होली खेली गई । शुक्रवार की सुबह से ही बाबा मशान नाथ की विधि विधान पूर्वक पूजा का दौर शुरु हुआ तो चारों दिशाएं हर-हर महादेव से गूंज उठीं।  

परंपराओं के अनुसार रंगभरी एकादशी के ठीक अगले दिन भगवान शिव के स्वरूप बाबा मशान नाथ की पूजा कर श्मशान घाट पर चिता भस्म से उनके गण होली खेलते हैं। काशी मोक्ष की नगरी है और मान्यता है कि यहां भगवान शिव स्वयं तारक मंत्र देते हैं। लिहाजा यहां पर मृत्यु भी उत्सव है और होली पर चिता की भस्म को उनके गण अबीर और गुलाल की भांति एक दूसरे पर फेंककर सुख-समृद्धि-वैभव संग शिव की कृपा पाते हैं।