काशी के घाटों पर पहली बार यूपी अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का आयोजन | ZNDM NEWS |

शुक्रवार को राजेंद्र प्रसाद घाट पर 28वें यूपी अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का आगाज हुआ। आप को बता दे राजेंद्र प्रसाद घाट पर बने ओपेन थिएटर में जहां एनिमेशन फिल्म 'यूपी यूपी एंड यूपी' से शुरुआत हुई, वहीं अस्सी घाट पर पहली फिल्म 'विलेज ऑफ ए लेसर गॉड' दिखाई गई है ।

शुक्रवार को राजेंद्र प्रसाद घाट पर 28वें यूपी अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का आगाज हुआ। आप को बता दे राजेंद्र प्रसाद घाट पर बने ओपेन थिएटर में जहां एनिमेशन फिल्म 'यूपी यूपी एंड यूपी' से शुरुआत हुई, वहीं अस्सी घाट पर पहली फिल्म 'विलेज ऑफ ए लेसर गॉड' दिखाई गई है ।
आप को बता दे की सिर्फ काशी में ही नहीं भारत में यह अलग तरह का अनूठा व पहला आयोजन है, जहां रातभर खुले आसमान के नीचे दर्शकों को श्रेष्ठ कलात्मक फिल्मों का लुत्फ उठाने का अवसर मिल रहा है। इस कार्यक्रम के संयोजक कृष्ण कुमार के मुताबिक इस तरह के आयोजन की शुरुआत के लिए देश की सांस्कृतिक राजधानी से उपयुक्त कोई अन्य शहर नहीं है।
इस आयोजन के लिए कुल 150 फीचर फिल्मो ने आवेदन किया था, जिसमें से कुल 35 फिल्में शार्ट लिस्ट की गई हैं। पहले दिन राजेंद्र प्रसाद घाट पर एनिमेशन फिल्म 'यूपी यूपी एंड यूपी', फीचर फिल्म 'सन्नो...डॉटर ऑफ इंडिया', 'अंतरव्यथा', 'चतुरनाथ' व '13 ट्रिब्यूट ऑफ लव' दिखाई गईं।
वहीं अस्सी घाट पर फिल्म फेयर पुरस्कार से पुरस्कृत अनंत महादेवन द्वारा निर्देशित फिल्म 'विलेज ऑफ ए लेसर गॉड' व ज्योति कूपर दास निर्देशित 'चटनी' दिखाई गई। इस दौरान ज्यूरी मेंबर सावन कुमार, बी सुभाष, डेविड सप्रियो, एस कुमार मोहन, हेमांद्री सिंह, विराट विजय आदि मौजूद रहे। वहीं सुबह तक फ‍िल्‍मों का मेला लगा रहा तो दर्शकों की भी सक्रियता रात भर फ‍िल्‍मों में बनी रही।