कोरोना रोगियों के इलाज के लिये अपना प्लाज्मा देने वाली है -कनिका कपूर

कोराना वायरस से जंग जितने बाद बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर ने कोरोना के इस लड़ाई में अपना योगदान देने के लिए अपना प्लाज्मा डोनेट करने का फैसला लिया है। वो कोरोना रोगियों के इलाज के लिये अपना प्लाज्मा देने वाली है.

कोरोना रोगियों के इलाज के लिये अपना प्लाज्मा देने वाली है -कनिका कपूर

 जिसके लिये उन्होंने सोमवार शाम को किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में अपना रक्त परीक्षण के लिये दिया | अगर उनके परीक्षण ठीक आये तो सोमवार या मंगलवार सुबह उनके खून से 500 मिली प्लाज्मा केजीएमयू के डाक्टर निकालेंगे | 

इकनोमिक टाइम्स को मिली खबर के मुताबिक ,केजीएमयू की ब्लड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की अध्यक्ष डॉ. तूलिका चंद्रा ने सोमवार को बताया, '' गायिका कनिका कपूर ने सोमवार को संस्थान के डाक्टरों से अपना प्लाज्मा दान करने की इच्छा जताई | इसके बाद उन्हें बुलाकर उनके रक्त के नमूने परीक्षण के लिये लिये गये. रक्त परीक्षण में सब कुछ ठीक पाये जाने के बाद उन्हें सोमवार शाम या मंगलवार सुबह प्लाज्मा दान करने के लिये बुलाया जाएगा |'' उन्होंने बताया कि अभी तक केजीएमयू में कोरोना से ठीक हुये तीन मरीज अपना प्लाज्मा दान कर चुके है | इनमें एक रेजीडेंट डाक्टर तौसीफ खान, एक कनाडा की महिला डाक्टर तथा एक अन्य रोगी शामिल हैं. |कनिका कपूर कोरोना से ठीक हुई चौथी रोगी होंगी जो अपना प्लाज्मा केजीएमयू को दान करेंगी. रविवार शाम राजधानी के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में किसी कोरोना रोगी पहली बार प्लाज्मा थेरेपी दी गयी | यह रोगी उरई के एक 58 वर्षीय डाक्टर हैं जिनको प्लाज्मा दान करने वाली भी कनाडा की एक महिला डाक्टर है जो कि पहली कोरोना रोगी थी जो यहां केजीएमयू में भर्ती हुई थी |

क्या होता प्लाज्मा दान 

यदि कोई पूरी तरह से COVID​​-19 से उबर चुके हैं, तो आप वर्तमान में अपने प्लाज्मा का दान करके संक्रमण से लड़ने वाले रोगियों की मदद कर सकते हैं। क्योंकि उस संक्रमण व्यक्ति ने कोरोना से लड़ाई की थी, तो उसके बॉडी के प्लाज्मा में अब COVID-19 एंटीबॉडी मौजूद हैं। ये एंटीबॉडी  बीमार होने पर वायरस से लड़ने के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली प्रदान करता  हैं, इसलिए ठीक हुए व्यक्ति का प्लाज्मा का उपयोग दूसरों को बीमारी से लड़ने में मदद करने में सक्षम हो सकता है।