लॉकडाउन 4.0 - अब रेड जोन में भी हो सकेगी मोबाइल ,फ्रिज टीवी जैसे सामानों की ऑनलाइन शॉपिंग -यहां जानिए

देश भर में कोरोना संकट को देखते हुए लॉकडाउन को 17 मई से बढ़ा कर 31 मई कर दिया गया। गृह मंत्रालय ने 31 मई तक लॉकडाउन के चौथे चरण में विशेष तौर पर प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियां खोलने की अनुमति दे दी है....

लॉकडाउन 4.0 - अब रेड जोन में भी हो सकेगी मोबाइल ,फ्रिज टीवी जैसे सामानों की ऑनलाइन शॉपिंग -यहां जानिए

18 मई से शुरू हुई लॉकडाउन 4 में ई-कॉमर्स को और ज्यादा राहत दी गई है| लॉकडाउन 4 में तीनों जोनों- ग्रीन, ऑरेंज और रेड में ई-कॉमर्स को जरूरी और गैर-जरूरी सामानों को बेचने की इजाजत दी गई है. हालांकि कंटेनमेंट जोन में जरूरी और गैर-जरूरी में किसी भी तरह के सामान को बेचने की इजाजत नहीं मिली है|  गृह मंत्रालय ने रेड जोन में गैर-जरूरी सामानोंकी डिलिवरी की अनुमति दी है|  अब रेड जोन में होने के बावजूद आप अमेजन, फ्लिपकार्ट और स्नैपडील जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों से टीवी, फ्रिज और एसी जैसे सामान ऑर्डर कर सकते हैं| 

देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन की शुरुआत हुई थी. लॉकडाउन के चलते गैर-जरूरी सामानों की बिक्री पर पाबंदी था जिसकी वजह से उन कंपनियों को काफी नुकसान उठाना पद रहा था| इसलिए अब करीब दो महीने बाद सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को गैर-जरूरी सामानों की डिलिवरी की अनुमति दी है|  4 मई से ई-कॉमर्स कंपनियों को केवल ऑरेंज और ग्रीन जोन में गैर-जरूरी सामानों की डिलिवरी की अनुमति दी गई थी| 

आपको बता दे ,कंटेनमेंट जोन में सिर्फ अनिवार्य सेवाओं की ही अनुमति दी गयी है|  कंटेनमेंट जोन घोषित करने का अधिकार राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासन को दे दिया गया है|  इस संबंध में अमेजन और फ्लिपकार्ट को भेजे गए ईमेल का जवाब नहीं मिला है|  वहीं पेटीएम मॉल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीनिवास मोठे ने कहा कि सरकार के इस कदम से कंपनी को रेड जोन में पड़ने वाले अधिकतर बड़े शहरों के कई इलाकों में डिलिवरी करने में मदद मिलेगी| वहीं स्नैपडील के प्रवक्ता ने कहा कि मंत्रालय के दिशानिर्देशों से देश के अधिकतर इलाकों में आर्थिक गतिविधियां फिर से शुरू करने में मदद मिलेगी|