भारत सरकार की नयी पहल -अब ग्रामीण इलाकों में भी होगी अट्टा,चावल,नमक जैसे समानो की होम डिलीवरी

देश के कई इलाकों में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन किया गया है. इस वजह से लोगों के आने-जाने पर पाबंदी है. इससे जरूरी सामान की आपूर्ति नहीं हो पा रही है. इस समस्या से निबटने के लिए सरकार ने ग्रामीण स्तर की ऑनलाइन रिटेल चेन को मंजूरी दी है. इसके एफएमसीजी प्रोडक्ट की घर-घर होम डिलीवरी हो सकेगी.......

भारत सरकार की नयी पहल -अब ग्रामीण इलाकों में भी होगी अट्टा,चावल,नमक जैसे समानो की होम डिलीवरी

इकनोमिक टाइम्स के मुताबिक ,भारत सरकार की तरफ से शुरू की गई गांव के लिए इस रिटेल चेन में कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) की महत्वपूर्ण भूमिका होगी. ग्रामीण इलाकों में डिजिटल कामकाज को पूरा करने के लिए भारत सरकार की सेवा कॉमन सर्विस सेंटर की पहुंच 60 करोड़ से ज्यादा लोगों तक है.

भारत के गांव में कॉमन सर्विस सेंटर के 3.8 लाख आउटलेट हैं. इनकी मदद से गांव में ही ई-रिटेल चेन के आर्डर की होम डिलीवरी सुनिश्चित की जा सकती है. कॉमन सर्विस सेंटर के आउटलेट वास्तव में निजी उद्यमियों द्वारा चलाए जाते हैं लेकिन यह संचार एवं आईटी मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के तहत चलते हैं. कॉमन सर्विस सेंटर ई रिटेल चेन से ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले लोगों को सब्जी, दूध, फल और अन्य जरूरी सामान की बिक्री और आपूर्ति करनी पड़ेगी. कॉमन सर्विस सेंटर के सीईओ दिनेश त्यागी ने यह जानकारी दी है. अगर आप भी भारत के ग्रामीण इलाके में रहते हैं और ऑनलाइन शॉपिंग करना चाहते हैं जिससे आपको जरूरी सामान की आपूर्ति हो सके तो हम आपको बता रहे हैं कि इसका तरीका क्या है. ग्राहकों को इसके लिए एक ऐप डाउनलोड करना होगा और ग्रामीण स्तर के उद्यमियों को इसमें जोड़ा जाएगा. इसके साथ ही कॉमन सर्विस सेंटर से जुड़ी गतिविधियों पर काम करने वाले अन्य लोगों को भी इसमें जोड़ा जा सकता है. ग्रामीण स्तर के उद्यमियों को यह सुविधा होगी कि वह ऑफलाइन आर्डर भी ले सकते हैं और कुछ घंटे के दौरान ही आर्डर करने वाले लोगों को इसकी डिलीवरी सुनिश्चित करेंगे.